स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

डाटर्स डे: जब तिरंगे की शान के लिए हजारों पाकिस्तानियों से भिड़ गईं भारत मां की यह बेटी

Prateek Saini

Publish: Sep 22, 2019 20:21 PM | Updated: Sep 22, 2019 20:25 PM

Jammu

Daughters Day Special: आज जब डाटर्स डे ( #DaughtersDay ) का जश्न (Daughters Day Celebration) हम लोग मना रहे हैं तो (Journalist Poonam Joshi) बेटियों को भुलाया (Daughters Day Poem) नहीं जा सकता, आखिर यह देश एक (Daughters Day Status) परिवार की तरह है और परिवार को संवारना बेटियां बहुत अच्छी तरह से जानती हैं...

जम्मू: आज 22 सितंबर को धूमधाम से डाटर्स डे (DaughtersDay) मनाया जा रहा है। बेटियों को समर्पित यह दिन बेहद ख़ास है। जो समाज को एहसास दिलाता है कि समाज को संपूर्ण बनाने में बेटियों का जो योगदान है उसे भुलाया नहीं जा सकता। आज के दिन लोग अपनी बेटियों के साथ जुड़ी यादों को लेकर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर रहे हैं, वहीं उनका दिन स्पेशल बनाने के लिए भी पूरा परिवार जुटा हैं। इसी बीच देश ने एक बार फिर उस बेटी को याद किया है तिरंगे की शान को बचाए रखने के लिए पाकिस्तानियों को और खालिस्तान समर्थकों से भिड़ गई थीं।


जब देश ने किया बेटी को याद #DaughtersDay

 

हम बात कर रहे हैं पत्रकार पूनम जोशी की। जो तिरंगे की शान को बचाने के लिए पाकिस्तानियों और खालिस्तान समर्थकों की भीड़ से लड़ गई थी। दरअसल बीते दिनों जब जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 (Articale 370) को बेअसर किया गया तो पाकिस्तान की बौखलाहट बढ़ गई थी। पाकिस्तान ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लॉबिंग करने की कोशिश शुरू की पर उसे हर मोर्चे पर मुंह की खानी पड़ी। इसी कड़ी में खालिस्तान समर्थकों के साथ मिलकर पाकिस्तान मूल के लोगों ने लंदन में भारतीय हाई कमीशन के आफिस के बाहर भारत के फैसले का विरोध किया। यह स्वतंत्रता दिवस का दिन था। पत्रकार पूनम जोशी न्यूज एजेंसी एएनआई की ओर से स्वतंत्रता दिवस के जश्न को कवर करने के लिए वहां पहुंची थी। प्रदर्शनकारियों ने तिरंगे झंडे के टुकड़े कर दिए और पैरों से कुचलने लगे।

 

कोई भी भारतीय अपने तिरंगे का अपमान नहीं सह सकता। पूनम ने जैसे ही इन प्रदर्शकारियों की हरकत को देखा। उनसे रहा नहीं गया। वह भीड़ से निकलकर इन लोगों के पास गई और उनसे झंड़ा छीन लिया। ऐसा करने के बाद पूनम और प्रदर्शनकारियों में तीखी बहस भी हुई।

Daughters Day Status

आज जब डाटर्स डे का जश्न हम लोग मना रहे हैं तो ऐसी बेटियों को भुलाया नहीं जा सकता जो देश के स्वाभिमान की रक्षा के लिए कुछ भी कर गुजरने को तैयार रहती हैं। आखिर यह देश एक परिवार की तरह है और परिवार को संवारना बेटियां बहुत अच्छी तरह से जानती हैं। हमने नाज हैं ऐसी बेटियों पर।


ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...