स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

घाटी में हालात सुधरे, अतिरिक्त सुरक्षा बलों की वापसी शुरू

Prateek Saini

Publish: Dec 03, 2019 22:14 PM | Updated: Dec 03, 2019 22:14 PM

Jammu

Jammu Kashmir Situation: जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम 2019 को लागू करने से पहले केंद्र सरकार ने शांति व्यवस्था को बनाए रखने के लिए (Jammu Kashmir Situation Update) अर्धसैनिक बलों के करीब 40 हजार जवान व अधिकारी जम्मू-कश्मीर के विभिन्न हिस्सों (Security Forces In Jammu Kashmir) में तैनात किए थे।

(जम्मू): कश्मीर में हालात सुधरने के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जम्मू-कश्मीर के विभिन्न हिस्सों में तैनात अतिरिक्त केंद्रीय अर्धसैनिक बलों को हटाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। बीते एक माह के दौरान सीआरपीएफ और बीएसएफ के करीब दो हजार जवानों व अधिकारियों को राज्य से बाहर भेज दिया गया है, जबकि अगले 30 दिनों में तीन हजार और जवान हटाए जा रहे हैं।


जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम 2019 को लागू करने से पहले केंद्र सरकार ने शांति व्यवस्था को बनाए रखने के लिए अर्धसैनिक बलों के करीब 40 हजार जवान व अधिकारी जम्मू-कश्मीर के विभिन्न हिस्सों में तैनात किए थे। जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि हालात की लगातार समीक्षा की जा रही है। जहां-जहां हालात पूरी तरह से सामान्य हो चुके हैं वहां से केंद्रीय अर्धसैनिकबलों की अतिरिक्ति टुकडिय़ों को हटाने की प्रक्रिया शुरू की गई है। यह प्रक्रिया चरणबद्ध तरीके से चलेगी।


पहले चरण में सीआरपीएफ और बीएसएफ के दो हजार जवानों व अधिकारियों को हटाया गया है। इनमें 16 कंपनियां या फिर बीएसएफ के 1600 जवान और अधिकारी हैं। चार अन्य कपंनियों में 400 जवान व अधिकारी सीआरपीएफ से संबंधित हैं। अधिकारी ने बताया कि दूसरे चरण में केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की 30 कंपनियों अथवा तीन हजार जवानों को हटाया जा रहा है।

[MORE_ADVERTISE1]