स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बाज नहीं आ रहा पाकिस्तान, पुंछ-राजौरी में सीजफायर उल्लंघन

Nitin Bhal

Publish: Jul 20, 2019 20:10 PM | Updated: Jul 20, 2019 20:10 PM

Jammu

Ceasefire violation: पाकितान सेना ( Pakistan Army ) ने सीजफायर का उल्लंघन करते हुए शनिवार सुबह 9 बजे से पुंछ व राजौरी जिलों के विभिन्न सेक्टरों में भारी गोलाबारी का सिलसिला जारी रखा हुआ है। इस गोलाबारी...

जम्मू (योगेश). पाकितान सेना ( pakistan army ) ने सीजफायर का उल्लंघन ( Ceasefire violation ) करते हुए शनिवार सुबह 9 बजे से पुंछ व राजौरी जिलों के विभिन्न सेक्टरों में भारी गोलाबारी का सिलसिला जारी रखा हुआ है। इस गोलाबारी में बलनोई गांव के नायब सरपंच भी घायल हो गए हंै। उन्हें उपचार के लिए जिला अस्पताल पुंछ में भर्ती करवाया गया है। वहीं, भारतीय सेना ( Indian Army ) द्वारा भी पाक सेना को मुंहतोड़ जवाब दिया जा रहा है। शनिवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ( rajnath singh ) राज्य के दौरे पर हैं। इसी दौरान पाक सेना ने सीमा पार से भारी गोलाबारी शुरू कर दी है। सुबह करीब 9 बजे पाक सेना ने पुंछ के बलनोई, कृष्णा घाटी, मनकोट व बालाकोट सेक्टर के साथ राजौरी के बाबा खोड़ी व केरी बटल सेक्टर में भी गोलाबारी को शुरू कर दिया।

रिहायशी क्षेत्रों को भी बनाया निशाना

पहले पाक सेना ने सेना की अग्रिम चौकियों को निशाना बनाते हुए हल्के हथियारों से गोलाबारी का सिलसिला शुरू किया। इसके बाद पाक सेना ने रिहायशी क्षेत्रों को निशाना बनाते हुए मोर्टार दागना शुरू कर दिए।

आतंकियों की तलाश जारी

Ceasefire violation by Pakistan at LOC in Jammu Kashmir

दक्षिण कश्मीर के आमून, काजीगुंड में शुक्रवार को आतंकियों ने राज्य पुलिस विशेष अभियान दल (एसओजी) के जवानों के एक दल पर हमला कर दिया। इस हमले जवान बाल-बाल बच गए। पुलिस कर्मियों की जवाबी कार्रवाई पर आतंकी वहां से भाग निकले। पुलिस व सेना के जवानों ने आतंकियों की धरपकड़ के लिए तलाशी अभियान चला रखा है। कुलगाम से मिली सूचनाओं में बताया गया है कि एसओजी का एक दस्ता आमनू स्थित पेट्रोल पंप पर किसी काम से रुका। जवान जैसे ही अपने वाहन से बाहर निकले तो वहीं पास में स्थित एक बाग से आतंकियों ने उन पर स्वचालित हथियारों से फायङ्क्षरग कर दी। एसओजी के जवान किसी तरह इस हमले में बच गए और उन्होंने तुरंत जवाबी फायर किया। करीब पांच मिनट तक दोनों तरफ से गोलियां चली। जवानों को भारी पड़ते देख आतंकी वहां से भाग निकले। इस बीच, पुलिस दल पर हमले की खबर मिलते ही निकटवर्ती सैन्य शिविर से 9 आरआर के जवानों का एक दल भी मौके पर पहुंच गया। उन्होंने इलाके की घेराबंदी करते हुए तलाशी अभियान चलाया, जो देर रात तक जारी था।