स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

झेल नहीं पाई दुनिया की निष्ठुरता, पालना गृह में दम तोड़ा

Jitesh kumar Rawal

Publish: Jan 24, 2020 10:06 AM | Updated: Jan 24, 2020 10:06 AM

Jalore

www.patrika.com/rajasthan-news

एमसीएच के पालनागृह में मृत हाल मिली बालिका


जालोर. मातृ एवं शिशु कल्याण केंद्र (एमसीएम) में संचालित पालना गृह में गुरुवार सुबह एक नवजात मिली। लेकिन, वह दुनिया की निष्ठुरता नहीं झेल पाई।
शिशुरोग विभाग प्रभारी डॉ. मुकेशकुमार चौधरी ने बताया कि एमसीएच में संचालित पालनागृह में सुबह अज्ञात लोग एक नवजात को रख कर चले गए। जानकारी मिलने पर नर्सिंगकर्मी उसे तत्काल ही वार्ड में ले गए तथा भर्ती करवाया, लेकिन उसका दम टूट चुका था। सूचना मिलने पर कोतवाली से उप निरीक्षक भैरूसिंह सोलंकी मौके पर पहुंचे तथा मुआयना किया। इसके बाद शिशु का पोस्टमार्टम करवाया गया। उधर, सूचना मिलने पर बाल कल्याण समिति अध्यक्ष मंगलसिंह राजपुरोहित, रामप्रकाश खाबाणी, ठाकराराम भी एमसीएच पहुंचे तथा घटना की जानकारी ली। नर्सिंग अधीक्षक शंभुसिंह, पालना गृह प्रभारी सुमित्रा आदि मौजूद रहे।


संदेह होने पर खुला पालना गृह
पालना गृह की प्रभारी ने बताया कि वे सुबह नौ बजे ड्यूटी पर आई थीं। कुर्सी पर बैठते ही संदेह हुआ कि पालना गृह में कोई है। दरवाजा खोला तो अंदर नवजात दिखी। इस पर तत्काल ही उसे वार्ड में ले जाया गया।


आठ से नौ बजे के बीच रखा
बताया जा रहा है कि सुबह सफाई के दौरान राउंड लगाने वाला कार्मिक इस पालना गृह को एक नजर देखता है। गुरुवार सुबह आठ बजे भी ऐसा ही हुआ, लेकिन उस समय पालने में कोई शिशु नहीं था। ऐसे में यह भी कयास लगाया जा रहा है कि आठ व नौ बजे के बीच कोई नवजात को रखकर गया होगा।


बांध कर नहीं रखी थी नाल
शिशुरोग विभाग प्रभारी ने बताया कि नवजात का जन्म समय से पूर्व होना ज्ञात हो रहा है। इसका वजन पौने दो किलो के आसपास था। प्रथमदृष्टया जांच में यह सामने आया है कि नाल काटने के बाद क्लीप या धागे से बांधा नहीं था। लिहाजा प्रसव संस्थागत नहीं होकर घर पर करवाया गया हो सकता है।


अभी कारण स्पष्ट नहीं है...
नवजात की मौत के बारे में अभी स्पष्ट रूप से कुछ कहा नहीं जा सकता। प्रथमदृष्टया नाल नहीं बांधे जाने से ज्यादा खून बहने, लंग्स नहीं खुलने से सांस नहीं लेने, समय से पहले प्रसव करवाना आदि उसकी मौत के प्रमुख कारण हो सकते हैं। फिलवक्त पोस्टमार्टम करवाया है तथा पुलिस भी जांच कर रही है।
- डॉ. मुकेशकुमार चौधरी, शिशुरोग विशेषज्ञ, जालोर

[MORE_ADVERTISE1]