स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जान से मारने की धमकी पर यह क्या बोल गए रानीवाड़ा थाना प्रभारी

Khushal Singh Bhati

Publish: Jan 22, 2020 11:13 AM | Updated: Jan 22, 2020 11:13 AM

Jalore

- रानीवाड़ा थाना क्षेत्र में पंचायत राज चुनाव के दौरान 18 जनवरी को हुआ था विवाद, अब एक पक्ष दूसरे पक्ष को जान से मारने की दे रहा धमकी, थाना प्रभारी का गैर जिम्मेदाराना जवाब

जालोर/रानीवाड़ा. रानीवाड़ा थाना क्षेत्र के अंतर्गत रानीवाड़ा खुर्द में पंचायत राज चुनाव के दौरान उप सरपंच के चुनाव में दो गुटों में विवाद का मामला अभी शांत होने का नाम नहीं ले रहा। मारपीट और झड़प के बाद अब मामले में एक पक्ष दूसरे पक्ष को सोशल मीडिया के मार्फत न केवल धमका रहा है। बल्कि जान से मारने की धमकी तक दी जा रही है। मामले में पुलिस भूमिका पर भी सवालिया निशान है। क्योंकि जब सोशल मीडिया के जरीये उप सरपंच समर्थक को जान से मारने की धमकी देने की सूचना जब पुलिस को दी गई तो थाना प्रभारी का रुख भी गैर जिम्मेदाराना ही था। थाना प्रभारी मि_ूलाल को जब इस बारे में बताया गया तो उन्होंने मामले को गंभीरता से लेने के बजाय यह तक कह दिया कि सोशल मीडिया पर तो धमकियां आती रहती है। इसमें क्या कार्रवाई करें।
यह था मामला
रानीवाड़ा खुर्द में 18 जनवरी को उप सरपंच चुनाव में हुए विवाद के बाद उप सरपंच समर्थक संजय जैन को सोशल सोसल मीडिया पर जान से मारने की धमकी दी गई। संजय जैन को डूंगरपुर सरपंच की तरह मारने की धमकी का मैसेज वाट्सएप पर डाला गया है। जैन ने बताया कि यह धमकी मेरा नाडी रानीवाड़ा खुर्द के ग्रुप में लिख कर भेजा गया है। जिसका जैन ने स्क्रीनशॉट एवं रिपोर्ट पुलिस थाना रानीवाड़ा सहित पुलिस अधीक्षक जालोर को अवगत करवाया। जैन ने बताया कि उप सरपंच चुनाव मेंं लॉटरी के द्वारा उप सरपंच चुना गया था लेकिन रानीवाड़ा खुर्द में दूसरे पक्ष को यह रास नहीं आया एवं उन्होंने घर जाते समय मारपीट की। जिसके बाद मामला दर्ज करवाया। लेकिन मामला अभी भी थमने का नाम नहीं ले रहा। अब सोशल मीडिया के मार्फत उप सरपंच पक्ष के लोगों को धमकाने का प्रयास किया जा रहा है। वहीं जान से मारने की धमकी तक दी जा रही है, लेकिन मामले में पुलिस कार्रवाई करने की बजाय, मामले को हलके में ले रही है। गौरतलब है उपसरपंच चुनाव में गोविंद रावल और भैरुसिंह प्रत्याशी थी, जिनको बराबर मत मिले थे, जिसके बाद लॉटरी में गोविंद रावल को विजयी घोषित किया गया। जिसके बाद से पराजित पक्ष उप सरपंच और उसके समर्थकों को डराने धमकाने के साथ जान से मारने की धमकी दे रहा है। बताया जा रहा है कि धमकी देने वाला पराजित पक्ष का ड्राइवर है।
इनका कहना
सोशल मीडिया पर धमकी आती रहती है। उसका क्या करें। पाबंद कर देंगे।
- मिट्ठूलाल, थाना प्रभारी, रानीवाड़ा.

[MORE_ADVERTISE1]