स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भारत माला परियोजना का इसलिए किसान कर रहे विरोध

Khushal Singh Bhati

Publish: Dec 07, 2019 10:51 AM | Updated: Dec 07, 2019 10:51 AM

Jalore


- प्रोजेक्ट का किसान कर रहे विरोध

बागोड़ा. उपखंड मुख्यालय पर शुक्रवार को भारतमाला सड़क परियोजना में अवाप्त की भूमि का मुआवजा बढ़ाने व विभिन्न मांगों को मनवाने के लिए किसान संघर्ष समिति के बैनर तले किसानों का जिला स्तरीय बेमियादी धरना शुरु किया गया है। इस अनिश्चित कालीन धरना मे सायलाए बागोड़ा, भीनमाल, चितलवाना व सांचौर के बड़ी तादाद में किसानों ने आक्रोश जता प्रधानमंत्री के नाम एसडीएम गोमती शर्मा को ज्ञापन सौंपा। उपखंड अधिकारी गोमती शर्मा को पेश किए ज्ञापन में किसानों ने आरोप लगाया कि भारतमाला एक्सप्रेस वे जालोर जिले के दर्जनों गांवों में होकर गुजर रही है, जिसमें कई किसानों की खातेदारी खेत की कृषि भूमि को अवाप्त की गई है। इस अवाप्त भूमि में कई किसानों के खेत दो भागों में विभाजित होने से नाकारा हो रहे है और शेष बची भूमि कृषि योग्य लायक नहीं रही। ज्ञापन में बताया है कि पूर्व में तहसील मुख्यालयों पर 156 दिन तक जिला के किसानों ने आक्रोश व्यक्त कर धरना दिया था, उसके बाद 14 फरवरी 2019 मे सांसद व केंद्र सरकार मनसुख माण्डवियां मंत्री के आश्वासन पर धरना समाप्त कर दिया था, लेकिन समस्या आज भी यथावत है। अवाप्त भूमि की पैमाइश किसानों की मौजूदगी में की जाने व भूमि अवाप्त के बाद एक एकड़ से कम शेष बचे टूकडो को भूमि अवाप्ति मानते अवार्ड जारी किए जाए। अवाप्त भूमि का वास्तविक मूल्य आंकलन मे प्रभावित किसानों को सम्मिलित करने, अधिकृत भूमि में आने वाली सम्पत्ति, परिसम्पत्तियों, खड़ी फसलों व पेड़ पौधों का भुगतान पहले करते निर्माण के पूर्व टोल नाके, होटलों, पेट्रोल पंप, टायर पंचर दुकान समेत स्थिति की जानकारी किसानों को मुहैया कराने की मांग की है। किसानों ने चेतावनी दी है कि उनकी विभिन्न समस्याओं पर गौर नहीं हुआ तो बागोड़ा उपखंड मुख्यालय पर यह बेमियादी धरना जारी रहेगा। इस दौरान भाकराराम विश्नोई, जालमसिंह, विजय सिंह, निम्बाराम, जयकिशन, जयसिंह, बलवंतसिंह, भोलाराम प्रजापत समेत कई जने मौजूद रहे।...६

[MORE_ADVERTISE1]