स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Nikay Chunav Rajasthan 2019: जीत के संभावित दावेदारों की बाड़ेबंदी, अज्ञातवास को भेजा

Jitesh kumar Rawal

Publish: Nov 18, 2019 12:25 PM | Updated: Nov 18, 2019 12:25 PM

Jalore

www.patrika.com/rajasthan-news

पहले बहाने से बुलाया, फिर भेज दिया अज्ञात जगह, सीधे तौर पर बताने से इनकार कर रहे पदाधिकारी


जालोर. निकाय चुनाव के तहत मतदान प्रक्रिया होने के साथ ही जीत के संभावित दावेदारों को कब्जे में कर लिया गया है। हालांकि राजनीति दलों के पदाधिकारी सीधे तौर पर इससे इनकार कर रहे हैं, लेकिन कुछ कार्यकर्ता दबे शब्दों में यह बताने से गुरेज भी नहीं कर रहे।
बताया जा रहा है कि मतदान के तत्काल बाद ही राजनीतिक दलों के पदाधिकारी अपनी पार्टी से जुड़े प्रत्याशियों को कहीं अज्ञातवास पर ले गए हैं। इनको किसी बहाने से बुलाया गया तथा मोबाइल व अन्य सम्पर्क सूत्र कब्जे में ले लिए गए। बताया जा रहा है कि कुछ जगह प्रत्याशियों का विरोध भी झेलना पड़ा। इसके लिए कब्जे में करने आए पदाधिकारियों व समर्थकों को छीना झपटी तक करनी पड़ी। अभी तक यह अज्ञात ही है कि बाड़ाबंदी के दौरान इन प्रत्याशियों को कहां ले जाया गया है। राजनीतिक दलों के पदाधिकारी अपने दलों से बगावत कर चुके प्रत्याशियों से भी सम्पर्क में हैं, ताकि जीत के बाद उनका समर्थन हासिल कर सके।


बाड़ेबंदी में वही, जो बगावत कर सकते हैं
हालांकि राजनीति दलों से जुड़े कुछ प्रत्याशी रविवार को शहर में रूटीन वर्क करते नजर आए, लेकिन अधिकतर प्रत्याशी नजर नहीं आए। माना जा रहा है कि इन प्रत्याशियों को शनिवार शाम से ही बाड़ेबंदी में भेज दिया गया है। आमतौर पर बाड़ेबंदी में उन्हीं प्रत्याशियों को भेजा जाता है, जो जीत के बाद किसी तरह पार्टी से बगावत कर विरोधी खेमे के समर्थन में जा सकते हो। पार्टी के प्रति बागी नहीं बनने वाले संभावित प्रत्याशियों को बाड़ेबंदी से दूर रखा जाता है।


जीत के बाद देंगे पसंदीदा को समर्थन
बताया जा रहा है कि जालोर नगर परिषद क्षेत्र के प्रत्याशियों से पार्टी पदाधिकारियों ने पहले सम्पर्क बैठक भी आयोजित की थी। इस दौरान ही जीत के संभावित उम्मीदवारों को किसी अज्ञात जगह पर बाड़ेबंदी में ले जाया गया। कुछ निर्दलीय अपने स्तर पर ही अज्ञातवास में चले गए हैं, ताकि जीत के बाद अपने पसंदीदा दावेदार को समर्थन दे सके।

[MORE_ADVERTISE1]