स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

लम्बे रूट पर रोडवेज सुविधा नहीं, यात्री परेशान

Khushal Singh Bhati

Publish: Nov 19, 2019 10:33 AM | Updated: Nov 19, 2019 10:33 AM

Jalore

- प्राइवेट बस संचालकों की मनमानी, परेशान होना पड़ रहा वाहन चालकों को

सायला. उपखंड क्षेत्र में रोडवेज बसों का संचालन नहीं होने से कस्बे समेत आस पास के गांवों के लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। यत्रियों को अक्सर जोधपुर, जयपुर आना जाना पड़ता है। रोडवेज बस नहीं होने से उन्हें निजी बसों में सफर करना पड़ता है। इधर, निजी बस वाले अपने मनमर्जी करते हैं। वहीं इन बसों के भरोसे सफर करना भी मजाक से कम नहीं, क्योंकि कई मौकों पर तो पर्याप्त यात्री नहीं होने बस को रद्द तक किया जा सकता है। रोडवेज बस नहीं होने से निजी बस चालक चांदी काट रहे है। सायला उपखण्ड पर नाम मात्र की रोडवेज दौड़ती है। वहीं सीजन के समय में निजी बस चालक बस में जरूरत से ज्यादा यात्रियों बैठा लेते है। बस के अन्दर व बस की छत पर बैठाते है और कई यात्रियों को दूर दराज तक बस में खड़े खड़े ही यात्रा करनी पड़ती है। रोडवेज बस नहीं होने से निजी बस वाले अपनी मनमर्जी करते है। गांवों में बस नहीं ले जाना कई बार तो गांव के चौराहे व फांटा पर ही उतार देते है। वही यात्रियों से पूरा पैसा वसूलते है। उसके बाद भी निजी बस चालक यात्रीयो को चोराहे पर उतार देते है, जिससे यात्री को स्वयं चौराहे से गांव घर तक की दूरी तय करनी पड़ती है।
इनका कहना है
जयपुर, जोधपुर, अहमदाबाद के लिए रोडवेज बस नहीं होने के चलते निजी बस चालक अपनी मनमर्जी पैसे वसूलते है। वहीं सीट तक नहीं देते जिससे अधिकतर व्यक्तियों को गेलेरी में बैठ कर ही जाना पड़ता है।
- रमेश कुमार सुंदेशा, व्यापारी
रोडवेज के लिए सायला उपखण्ड एक बड़ा सेन्टर है, जहां पर रोडवेज की सुविधा होनी चाहिए। रोडवेज बस नहीं होने के कारण निजी बस में सफर करते है और निजी बस वाले अवैध पैसा वसूलते हैं। इस संबंध में जो जनप्रतिनिधि जीत कर गए है। उन्हें ऐसी समस्याओं का समाधान करना चाहिए।
- वरद सिंह वालेरा, शिवसेना, जिलाध्यक्ष

[MORE_ADVERTISE1]