स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यहां तो सैंया नहीं खुद ही कोतवाल, फिर डर काहे का

Jitesh kumar Rawal

Publish: Jan 24, 2020 10:31 AM | Updated: Jan 24, 2020 10:31 AM

Jalore

www.patrika.com/rajasthan-mews

बिना नम्बरी गाड़ी लेकर घूम रहे थानेदार, यातायात नियमों की उड़ा रहे धज्जियां


सायला. किसी ने सच ही कहा है संैया भये कोतवाल तो डर काहे का, लेकिन यहां तो कोतवाल ही नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं। सायला थाना प्रभारी इन दिनों यातायात नियमो की धज्जियां उड़ाने में कोई कसर नही छोड़ नहीं रहे। पुलिस और परिवहन विभाग की ओर से समय समय पर अभियान चलाकर यातायात सम्बन्धित जानकारी दी जाती है। वाहन चालकों को यातायात नियमों की पालना को लेकर कहते हैं, लेकिन खुद ही नियम तोड़ रहे हैं। थानाधिकारी सवाईसिंह इन दिनों जिस गाड़ी में घूम रहे हैं उस पर नम्बर तक लिखे हुए नहीं है। खुलेआम बिना नम्बरी गाड़ी दौड़ा रहे हैं, लेकिन कार्रवाई भी कौन करे।


यह है नियम
बिना नम्बरी वाहन सप्ताहभर के लिए एएफ लिखाकर चला सकते हैं। इसके बाद परिवहन विभाग से नम्बर जारी करवाना जरूरी है। अगर वाहन के नम्बर न लगे हो तो दस हजार के जुर्माने एवं वाहन को जब्त किए जाने का प्रावधान है। यहां थानाधिकारी इस समयावधि के बाद भी बिना नम्बरी वाहन लेकर ही घूम रहे हंै। मालूम होता है ये नियम इन पर लागू नहीं होता।

पाबंद करेंगे...
अगर ऐसा है तो आज ही नम्बर लगाने के लिए पाबंद कर दिया जाएगा, नहीं तो कार्रवाई की जाएगी।
- जयदेव सियाग, पुलिस उप अधीक्षक, जालोर

[MORE_ADVERTISE1]