स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बडग़ांव में मोक्षदा एकादशी गीताज्ञान महोत्सव

Dharmendra Ramawat

Publish: Dec 09, 2019 11:48 AM | Updated: Dec 09, 2019 11:48 AM

Jalore

www.patrika.com/rajasthan-news

बडग़ांव. बडग़ांव-रानीवाड़ा मुख्य सड़क मार्ग के पास संत लिखमीदास सेवा संस्थान प्रांगण में रविवार को माली समाज की ओर दो दिवसीय श्रीमद् भागवत गीता जयंती महोत्सव व मोक्षदा एकादशी गीताज्ञान यज्ञ के साथ भूमि पवीत्रीकरण का आगाज़ हुआ। महोत्सव को लेकर पिछले एक सप्ताह से तैयारी जोरों पर चल रही थी। संस्थान प्रांगण में रविवार सवेरे कलश स्थापना व पूजन के साथ महोत्सव शुरू हुआ। इस दौरान श्रद्धालुओं ने संत लिखमीदास के जयकारों से पूरा माहौल धर्ममय कर दिया। महोत्सव में कथावाचक गुमानमल माली पीथापुरा ने कहा कि माता पिता की सेवा से बढ़कर दुनिया में कोई सेवा नहीं है। उनकी सेवा करने से जीवन स्वर्ग बन जाता है। जिस प्रकार श्रवण ने अपने माता पिता को कांवड़ में बिठा कर तीर्थ यात्रा करवाई और अपने जीवन को साकार बनाया था। इस दौरान मोतीलाल, जैरूपाराम अदेपुरा, राजाराम, भूराराम, रूपाराम गहलोत, भैराराम पीथापुर व ओमप्रकाश समेत कई जने मौजूद थे।
महोत्सव में उमड़े समाज के लोग
दो दिवसीय महोत्सव में सवेरे ही कस्बे समेत क्षेत्रभर के माली समाज के लोग पहुंचे। इस दौरान समाज के लोगों में खासा उत्साह नजर आया। महोत्सव में बडग़ांव, अदेपुरा, जैतपुरा, पीथापुरा व रानीवाड़ा समेत आस पास के गांवों से लोग पहुंचे।

[MORE_ADVERTISE1]