स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बागरा रेलवे क्रॉसिंग पर 15 लाख की लूट का राजफाश, चार आरोपी गिरफ्तार

Khushal Singh Bhati

Publish: Aug 13, 2019 18:41 PM | Updated: Aug 13, 2019 18:40 PM

Jalore

- ग्रेनाइट फैक्ट्री में मुनीम का सहयोगी ही बना लूट में सहयोगी, वारदात को अंजाम देने से पहले की थी रैकी

जालोर. बागरा में रेलवे क्रॉसिंग के निकट निर्माणधीन ब्रिज के पास छह दिन पूर्व मुनीम से हुई 15 लाख रुपए की लूट के मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने लूट की वारदात को अंजाम देने वाले 3 बाइकर्स समेत इस साजिश में शामिल एक अन्य युवक को गिरफ्तार किया, जो मुनीम के साथ ही फैक्ट्री में काम करता था। पुलिस ने पड़ताल के बाद इस राशि में से 11 लाख रुपए बरामद कर लिए हैं। प्रकरण में लूट की वारदात का एक अन्य आरोपी अभी फरार है, जिसकी तलाश की जा रही है। एसपी हिम्मत अभिलाष टाक ने बताया कि वारदात के बाद पुलिस दल का गठन किय गया और उसके बाद संदिग्धों को चिह्नित किया गया और आरोपियों को गिरफ्तार किया गया।
संदिग्धों की पहचान के बाद पूछताछ में टूटे
पुलिस टीम द्वारा वारदात प्रयुक्त बिना नंबरी प्लसर एव हीरो होन्डा शाइन मोटरसाईकल के बारे में पड़ताल में यह बाइक हरचन्द सिंह उर्फ हरसन सिंह पुत्र चन्दन ंिसंह राजपूत निवासी बागरा की होने की जानकारी सामने आई। घटना के दौरान यह बाइक शौकत पुत्र करीम खां मुसलमान द्वारा चलाने की बात सामने आई। जिसके बाद पुलिस ने संदिग्ध हरचन्दसिंह उर्फ हरसनसिंह पुत्र चन्दनसिंह राजपूत (सिंधल) निवासी बागरा व युवराज सिंह पुत्र पूनमसिंह राठौड़ निवासी चुरा पुलिस थाना बागरा को दस्तयाब कर पूछताछ की गई तो आरोपियों ने जुर्म कबूल किया। साथ ही दोनों ने बताया कि उनके मित्र वीरेंद्र कुमार पुत्र पन्नालाल सरगरा निवासी सांथु ने उन्हें बताया कि उसके फैक्ट्री मालिक अर्जुन पुत्र गोपाल श्रीमाली ब्राह्मण निवासी सांथु की ग्रेनाइट फैक्ट्री भागली में है, जिसमें भंवरलाल जाट मुनिम है, जो फैक्ट्री का पूरा हिसाब-किताब रखता है। मुनीम भंवरलाल रोज फैक्ट्री के कामकाज के लिए लाखों रुपए इधर उधर करता है। इस बातचीत के बाद वारदात से तीन दिन पूर्व साजिश रची गई। जिसके बाद 8 अगस्त को भंवरलाल सांथू से 15 लाख रुपए लेकर रवाना हुआ तो शौकत खां, युवराज सिंह, हरचन्द उर्फ हरसन सिंह, धर्मवीर ंिसंह ने रेलवे क्रॉसिंग से आगे वारदात को अंजाम देकर 15 लाख रुपए लूट लिए।
मुनीम का साथी ही बना मुख्य सूत्रधार
बागरा से जालोर की तरफ ओवरब्रिज का निर्माण कार्य चल रहा है। ऐसे में रास्ता बंद होने पर मुनीम भंवरलाल का साथी वीरेंद्र उसे बागरा स्टेंड पर ही रुकने की बात कहते हुए बागरा की तरफ रवाना हो गया। जिसके जिसके बाद भंवरलाल को मोटरसाईकल पर बैठाकर भागली की तरफ रवाना हुआ। वहीं वीरेंद्र के मित्र युवराजसिंह व हरचन्दसिंह ने वीरेंद्र के पीछे अपने दोस्त शौकत खां पुत्र करीम खां मोयला मुसलमान निवासी बागरा व धर्मवीरसिंह पुत्र हिम्मतसिंह राजपूत निवासी कान्दलसर पुलिस थाना सांडवा जिला चुरू को मोटर साईकिल देकर पीछे भेजा। ज्योंही वीरेन्द्र एव भंवरलाल बागरा रेल्वे फाटक क्रॉस कर होटल ढोला मारू के पास पहुंचे कि सामने से बाइक सवार युवराजंिसंह व हरचन्दसिंह ने वीरेंद्र सरगरा की मोटरसाईकिल के आगे अपनी बाइक डालकर रास्ता रुकवाया। इधर, प्लान के अनुसार जानबूझकर वीरेंद्र ने अपनी बाइक को नीचे पटक दिया और पास के खेतों व बबूल की झाडिय़ों में भाग गया। जिसके बाद मौके पर मौजूद भंवरलाल के हाथ में से रुपयों से भरे बैग को हरचंदसिंह, युवराजसिंह, शौकत खां व धर्मवीरसिंह लूटकर फरार हो गए। मामले में पुलिस ने हरचंद, युवराज, शौकत और साजिश में शामिल वीरेंद्र को गिरफ्तार किया। जबकि मामले में धर्मवीर सिंह अभी फरार है।
पत्रिका ने जताया था अंदेशा
लूट की इस वारदात के बाद पत्रिका ने 10 अगस्त के अंक में 'आखिर लुटेरों को कैसे मिली बाइक पर राशि ले जाने की जानकारीÓ शीर्षक से समाचार प्रकाशित किया था। घटनाक्रम के बाद विभिन्न पहलूओं के आधार पर पत्रिका में बताया गया था कि लूट से पहले रैकी की गई है और इसमें कोई ऐसा शख्स शामिल हो सकता है, जो साजिश में शामिल हो।
इनका कहना
लूट की वारदात के बाद टीमों ने विभिन्न स्तर पर पड़ताल की और संदिग्धों से पूछताछ के बाद आरोपियों की पहचान हुई। 11 लाख रुपए बरामद किए जा चुके हैं। वारदात में शामिल एक अन्य आरोपी अभी फरार है।
- हिम्मत अभिलाष टाक, एसपी, जालोर