स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

किसान इसलिए अधिकारियों के खिलाफ दे रहे धरना

Khushal Singh Bhati

Publish: Dec 10, 2019 09:55 AM | Updated: Dec 10, 2019 09:55 AM

Jalore


- नर्मदा परियोजना से जुड़े कृषि क्षेत्र के किसान परेशान

वेडिय़ा. नर्मदा परियोजना से जुड़े मेघावा क्षेत्र के किसानों को सिंचाई के लिए पर्याप्त पानी नहीं मिलने से वे परेशान है और धरना दे रहे है। मामले में सात दिन से धरना जारी है और सात दिन गुजर चुके हैं, लेकिन अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों के कानों तक इन किसानों की आवाज नहीं पहुंच पाई है। इधर, किसान अपनी मांगों पर अडिग़ है और धरने पर बैठे हैं। क्षेत्र के मेघावा, वीरावा, कुंडकी, अगड़ावा व मणोहर गांव के किसानों की ओर से धरना जारी है। धरने पर बैठे किसानों ने कहा कि हमारे खेतों के बीचों-बीच नर्मदा मुख्य नहर गुजर रही है फिर भी हमारे खेतों को असिंचित रखा गया है। वहीं गत सात दिनों से धरना चल रहा है, लेकिन धरनास्थल पर कोई भी नर्मदा विभाग के अधिकारी या कर्मचारी आज तक धरनास्थल पर नही पहुंचे और न ही किसानों की समस्याओं को सुना। वहीं धरने पर बैठे किसानों का आक्रोश दिन प्रतिदिन बढ़ रहा है। वही धरनास्थल पर किसानों की सख्या भी दिनों-दिन बढ़ती जा रही है।
अधिकारी अब तक मौन
गत सात दिनों से धरना जारी है, लेकिन आज तक कोई भी अधिकारी धरनास्थल पर नही पहुंचा है। इधर मांगों पर अमल नहीं होने से किसान दिनों दिन उग्र होते जा रहे है। किसानों ने चेतावनी दी है कि अगर प्रशासन ने धरनास्थल पर आकर हमारी बात नहीं सुनी तो हम परिवार सहित धरने पर बैठेंगे। इस अवसर पर ठाकराराम गोरा, अध्यक्ष जगदीश सियाग, किशनाराम जाणी, सुरताराम खिलेरी, किशनलाल, ईसराराम, किसान संघ अध्यक्ष मकाराम चौधरी, मोहनलाल कङ़वासरा समेत अन्य किसान मौजूद रहे।..१२

[MORE_ADVERTISE1]