स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

गोचर भूमि में खोद दिए कुएं, करने लगे खेती-बाड़ी

Jitesh kumar Rawal

Publish: Jul 18, 2019 16:56 PM | Updated: Jul 18, 2019 16:56 PM

Jalore

www.patrika.com/rajasthan.news

देवाड़ा व आकोली गांव में करीब 800 बीघा जमीन पर अवैध रूप से कब्जा

भेटाला. निकटवर्ती देवाड़ा गांव में गोचर भूमि पर किए अतिक्रमण के मामले में प्रशासनिक अधिकारियों की टीम गांव पहुंची तथा जांच शुरू की। ग्रामीणों के बयान कलमबद्ध किए।अतिक्रमण के मामले में ग्रामीणों ने कुछ समय पहले शिकायत की थी, लेकिन टीम ने औपचारिकता ही निभाई।
ग्रामीणों ने बताया कि देवाड़ा व आकोली गांव में करीब 800 बीघा जमीन पर कुछ लोगों ने अवैध रूप से कब्जा कर रखा है। कुएं खोदकर खेती की जा रही है। पक्के मकान बनाकर निवास कर रहे हैं। गोचर में अतिक्रमण से मवेशियों के लिए चराई का संकट हो रहा है। अतिक्रमियों ने करीब सौ बीघा गोचर भूमि से बबूल कटवाकर कोयले बनाकर व्यापारियों को बेच दिए।ग्रामीणों ने गत 10 जून को उप मुख्यमंत्री के नाम जालोर तहसीलदार को रिपोर्ट भेजकर अवगत कराया था, लेकिन अधिकारी केवल मौका मुआयना कर लौटगए।पटवारी पुष्पेन्द्र रामचन्द्र, जीवनराम, कृष्णकुमार समेत कई अधिकारियों ने जांच की थी, लेकिन संतोषप्रद काम नहीं होने से ग्रामीणों ने विरोध जताया। ग्रामीणों ने मामले में ठोस कार्रवाई नहीं होने पर आंदोलन छेडऩे की चेतावनी दी।


जांच में औपचारिकता निभाई
ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि टीम ने जांच में औपचारिकता निभाई है। प्रशासनिक अधिकारियों नेपटवारियों की टीम गठित कर देवाड़ा में जांच की, लेकिन अतिक्रमण की जद में जो गोचर भूमि है उसका निरीक्षण नहीं किया। दूसरी जमीन का जायजा लेकर लौटगए।ग्रामीणों ने बताया कि उचित जांच कर अतिक्रमियों के खिलाफ ठोस कार्रवाई नहीं हुई तो जिला मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन किया जाएगा।आकोली सरपंच मीनादेवी रैगर, खेराजराम समेत कई लोगमौजूद थे।