स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नेहड़ में टिड्डी पर नियंत्रण का दावा, किसानों ने ली राहत की सांस

Dharmendra Ramawat

Publish: Jul 20, 2019 10:14 AM | Updated: Jul 20, 2019 10:14 AM

Jalore

होपर (टिड्डी के बच्चे) का भी सर्च ऑपरेशन के बाद छिड़काव कर किया खात्मा, अभी मौसम में बदलाव के साथ फिर से प्रजनन में हो सकता है इजाफा

चितलवाना. नेहड़ के गांवों में टिड्डी से सहमे किसानों को अब टिड्डी नियंत्रक दल की ओर से ऑपरेशन कर खत्म करने का दावा करने के बाद राहत मिली है। वहीं होपर (टिड्डी के बच्चों) को भी लोकेट कर खत्म कर दिया गया है। नेहड़ के गांवों में टिड्डी आने के बाद से लेकर नदी के किनारे टिड्डी के अंडों से बच्चे निकलने शुरू हो गए थे। ऐसे में सर्च टीम ने उस जगह दवा का छिड़काव कर उनका भी खात्मा कर दिया है। अब टिड्डी पर नियंत्रण होने से किसानों के साथ ही नियंत्रक दल ने भी राहत की सांस ली है। बारिश के मौसम को देखते हुए भी नेहड़ में टिड्डी पर नियंत्रण माना जा रहा है। कृषि अधिकारियों ने नेहड़ के गांवों में दौरा कर टिड्डी पर नियंत्रण का दावा किया है। टीम में उप निदेशक कृषि विस्तार डॉ. आरबी सिंह, सहायक निदेशक कृषि विभाग जालोर के फूलाराम सहित अन्य अधिकारी शामिल थे।
मौसम में बदलाव से प्रजनन की आशंका
इधर, नियंत्रण दल की ओर से नेहड़ में अभी भी होपर की तलाश की जा रही है। इसके लिए सर्च टीम का ऑपरेशन जारी है। मौसम में नमी को देखते हुए टिड्डी के प्रजनन की भी संभावना है, लेकिन अधिकारियों का कहना है कि अब टिड्डी से कोई खतरा नहीं है।
इनका कहना...
नेहड़ के गांवों में टिड्डी को लेकर स्थिति नियंत्रण में है। अब किसानों को टिड्डी से कोई खतरा नहीं है। टिड्डी के साथ होपर को भी खत्म कर दिया है।
- डॉ. आरबी सिंह, उप निदेशक, कृषि विस्तार, जालोर