स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बिना चुनाव लड़े ही वार्ड 27 में जीती भाजपा

Dharmendra Ramawat

Publish: Nov 08, 2019 11:13 AM | Updated: Nov 08, 2019 11:13 AM

Jalore

www.patrika.com/rajasthan-news

जालोर. नगर निकाय चुनावों को लेकर दोनों प्रमुख दलों ने उम्मीदवारों के खिलाफ बुधवार को आपत्ति दर्ज करवाई थी। जिस पर रिटर्निंग अधिकारी की मौजूदगी में देर शाम तक सुनवाई की गई। इसके तहत भाजपा के वार्ड 34 से घोषित भाजपा उम्मीदवार राजेंद्रकुमार, वार्ड 17 से कांग्रेस उम्मीदवार अनिलकुमार, वार्ड 4 से भाजपा उम्मीदवार सुशीला गहलोत, वार्ड 36 से कांग्रेस उम्मीदवार मिश्रीमल गहलोत के खिलाफ आपत्ति दर्ज कराई गई। इस दौरान दोनों पार्टी पदाधिकारियों की मौजूदगी में मामलों पर सुनवाई की गई। जिसके बाद किसी देर शाम दोनों प्रमुख दलों के एक-एक उम्मीदवार का नामांकन खारिज किया गया। इसके तहत वार्ड 4 से सुशीला गहलोत व वार्ड 17 से अनिलकुमार का नामांकन खारिज किया गया। इसी तरह वार्ड 37 से कांग्रेस के रतन गहलोत ने पार्टी से नामांकन नहीं भरा था। जिसके कारण अब वह निर्दलीय चुनाव लड़ेगा। इधर, शहर के वार्ड संख्या 27 में आरक्षित एसटी महिला सीट से भाजपा की उम्मीदवार तुलसी देवी ने बिना चुनाव लड़े ही जीत दर्ज की है। इस वार्ड में उनके सामने कांग्रेस से एक मात्र उम्मीदवार चंदा देवी ने गुरुवार को नामांकन वापस ले लिया। जिसके बाद यहां भाजपा ने सीधी तौर पर जीत दर्ज की है। इसी के साथ ही भाजपा ने पहले वार्ड में जीत दर्ज कर खाता खोला है।
भाजपा ने भेजी चुनाव आयोग को शिकायत
इधर, रिटर्निंग अधिकारी की ओर से निर्धारित समय पर अपत्तियों पर सुनवाई नहीं करने से नाराज भाजपा पदाधिकारियों ने उनके खिलाफ उन्हें ही शिकायत सौंपी, लेकिन उन्होंने शिकायत प्राप्त नहीं की। अधिवक्ता केशव व्यास ने बताया कि रिटर्निंग अधिकारी की ओर से समय पर अंतिम सूची जारी नहीं की जा रही थी। भाजपा की ओर से कांग्रेस के दो प्रत्याशियों के खिलाफ 4 आपत्तियां दर्ज कराई गई थी, लेकिन समय पर उन पर कोई निर्णय नहीं किया जा रहा था। जिस पर उन्हें शिकायत दी गई, लेकिन उनके द्वारा शिकायत नहीं लेने पर चुनाव आयोग को मेल की गई।
एक आशा तो दूसरे की पत्नी नगरपरिषद कार्मिक
भाजपा-कांग्रेस की ओर से जिन दो उम्मीदवारों के खिलाफ आपत्ति दर्ज कराई गई थी। उनमें से वार्ड 4 की भाजपा उम्मीदवार सुशीला गहलोत के आशा सहयोगिनी के तौर पर कार्यरत होने का आरोप था। वहीं वार्ड 17 से कांग्रेस उम्मीदवार अनिलकुमार की पत्नी नगरपरिषद में सरकारी कर्मचारी के तौर पर कार्यरत हैं। ऐसे में सुनवाई के बाद इन दोनों के नामांकन खारिज किए गए।
इन दोनों को रखा बहाल
इसी तरह कांग्रेस ने वार्ड 34 से घोषित भाजपा उम्मीदवार राजेंद्रकुमार के खिलाफ आपत्ति दर्ज कराई थी कि उनके विरुद्ध अपराधिक मामला दर्ज है। जबकि ऐसा नहीं होना पाया गया। इसी तरह भाजपा ने वार्ड ३६ से कांग्रेस उम्मीदवार मिश्रीमल गहलोत के खिलाफ तीन संतान होने व उनके पुत्र के नगरपरिषद में कार्यरत होने की आपत्ति दर्ज कराई थी, लेकिन उनके तीन पुत्र नहीं होना पाया गया। साथ ही नगरपरिषद से उनके बेटे के बीच संविदा पर कार्यरत होने का कोई करार नहीं होना पाया गया। नगरपरिषद ने जवाव में उनके बेटे के एनजीओ के मार्फत लगे होने की पुष्टि की। जिससे नगरपरिषद से उनका कोई सीधा संबंध या करार नहीं होना पाया गया। ऐसे में इन दोनों अभ्यर्थियों के नामांकन सही ठहराए गए।
मतदान के दिन रहेगा अवकाश
जिले में जालोर नगरपरिषद व भीनमाल नगरपालिका के 16 नवम्बर को होने वाले आम चुनावों के लिए संबंधित मतदान क्षेत्र में स्थित कार्यालयों में 16 नवम्बर को अवकाश घोषित किया गया है। जिला निर्वाचन अधिकारी महेन्द्र सोनी ने बताया कि राज्य निर्वाचन आयोग के घोषित कार्यक्रम अनुसार नगरपालिकाओं/नगरपरिषद के आम चुनाव 16 नवम्बर को होंगे। वित्त (मार्गोपाय) विभाग की अधिसूचना के तहत इस दिन जालोर नगरपरिषद व भीनमाल नगरपालिका के मतदान केंद्रों में स्थित कार्यालयों में पराक्रम्य लिखित अधिनियम (एनआइ एक्ट) 1881 के तहत अवकाश रहेगा।
जालोर में 6 उम्मीदवारों ने वापस लिए नाम
जालोर नगरपरिषद आम चुनाव के तहत गुरूवार को 6 उम्मीदवारों ने अपने नाम निर्देशन पत्र वापिस लिए। रिटर्निंग अधिकारी चम्पालाल जीनगर ने बताया कि जालोर के वार्ड 15 से निर्दलीय उम्मीदवार महेन्द्र, मनीषकुमार व दीपककुमार, वार्ड 26 से निर्दलीय मफरलाल, वार्ड 27 से कांग्रेस उम्मीदवार चंदा व वार्ड 33 से निर्दलीय संजयकुमार ने नामांकन पत्र वापिस लिए। उन्होंने बताया कि शुक्रवार दोपहर 3 बजे तक नाम वापिस लेने की अन्तिम तिथि रहेगी।

[MORE_ADVERTISE1]