स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जनरल-ओबीसी सीट से जीतकर पार्षद बनने वाला एससी केंडीडेट भी लड़ेगा चेयरमैन का चुनाव

Dharmendra Ramawat

Publish: Nov 07, 2019 10:41 AM | Updated: Nov 07, 2019 10:41 AM

Jalore

www.patrika.com/rajasthan-news

जालोर. भाजपा और कांग्रेस दोनों खेमों से अब उम्मीदवारों ने नामांकन दाखिल कर दिए है। दोनों प्रमुख दलों में सबसे ज्यादा पशोपेश की स्थित चेयरमैन के चेहरे को लेकर थी। नगरपरिषद के चालीस वार्डों में से 14 सीट महिलाओं के लिए रिजर्व है और इन्हें छोड़कर पुरुष पार्षद के लिए चुनाव लड़ेंगे।
इस बार जालोर में एससी के लिए आठ वार्ड आरक्षित है। जिसमें तीन वार्ड महिलाओं के लिए है। लेकिन एससी केटेगरी का उम्मीदवार ४० में से किसी भी वार्ड में चुनाव लड़ सकता है। इस बार लॉटरी प्रक्रिया के बाद जालोर में सामान्य वर्ग के 21 वार्ड हैं। इनमें 7 वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित हैं। यानी इन 21 वार्डों से भी एससी केटेगरी का उम्मीदवार चुनाव लड़ सकता है। वहीं यह भी बता दें कि अगर वह जनरल सीट से जीतकर पार्षद बनता है तो भी चेयरमैन का चुनाव लड़ सकता है। चेयरमैन के लिए जालोर में एससी की सीट रिजर्व हुई है।
जहां से जीत आसान वहां से भरा नामांकन
निकाय चुनाव को लेकर शहर के सभी 40 वार्डों में हलचल तेज हो चुकी है। अब उम्मीदवार और उनके समर्थक जीत का गणित बिठाने में लगे हुए हैं। इनमें से अधिकतर तो ऐसे हैं, जिन्होंने जीत के लिए ऐसा वार्ड चुना है, जहां उन्हें ज्यादा मेहनत करने की जरूरत नहीं पड़े। यानी यह भी कहा जा सकता है कि खुद के वार्ड को छोड़कर उन्होंने दूसरे वार्डों को चुना है।
वार्डवासी भी पशोपेश की स्थिति में
शहर के अधिकतर वार्ड ऐसे हैं, जहां से दूसरे वार्डों के उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं। ऐसे में वार्डवासियों का कहना है कि दूसरे वार्ड के प्रत्याशी को टिकट मिलने के बाद उनके सामने पशोपेश की स्थिति बनी हुई है कि आखिर वे वोट किसे दें। ऐसे में अब ऐसे उम्मीदवार इन वार्डों में जाकर घर-घर संपर्क कर रहे हैं। साथ ही वोट के लिए मान मनौव्वल करने में जुटे हुए हैं।
अंतिम समय में ऊंची सिफारिशें
दोनों प्रमुख दलों की ओर से प्रत्याशियों की अंतिम सूची जारी की जा चुकी है। हालांकि इससे पहले पार्टी टिकट के लिए कई दावेदारों ने ऊंची सिफारिशें भी लगाई, लेकिन उनके अरमान धरे के धरे रह गए। इधर, पार्टी का कहना है कि सर्वे रिपोर्ट के अनुसार योग्य उम्मीदवार को ही पार्टी की ओर से टिकट दिया गया है।
इनका कहना...
किसी भी जनरल सीट से चुनाव जीतने वाला एससी केटेगरी का पार्षद चेयरमैन का चुनाव भी लड़ सकता है। जालोर नगरपरिषद में चेयरमैन के लिए एससी की सीट आरक्षित है। ऐसे में कोई भी एससी केटेगरी का पार्षद इसके लिए चुनाव लड़ सकता है।
- चम्पालाल जीनगर, एसडीएम, जालोर

[MORE_ADVERTISE1]