स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बारावफात को ये रहेंगे सुरक्षा के इंतजाम

Khushal Singh Bhati

Publish: Nov 09, 2019 10:44 AM | Updated: Nov 09, 2019 10:44 AM

Jalore

जिला मजिस्ट्रेट महेन्द्र सोनी ने जालोर जिले मेें 10 नवम्बर को बारावफात के पर्व पर कानून एवं शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए 15 कार्यपालक मजिस्ट्रेट नियुक्त किए है।

जालोर.जिला मजिस्ट्रेट महेन्द्र सोनी ने जालोर जिले मेें 10 नवम्बर को बारावफात के पर्व पर कानून एवं शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए 15 कार्यपालक मजिस्ट्रेट नियुक्त किए है। जिला मजिस्ट्रेट महेन्द्र सोनी ने जिले में 10 नवम्बर को बारावफात के पर्व पर आवश्यक कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए उपखण्ड क्षेत्र जालोर, सायला, आहोर, भीनमाल, जसवन्तपुरा व रानीवाड़ा के सम्बधित उपखण्ड मजिस्ट्रेटों को सम्पूर्ण क्षेत्र के लिए कार्यपालक मजिस्ट्रेटों के अधिकार प्रदत्त किए हैं जबकि तहसील क्षेत्र जालोर, सायला, आहोर, बागोडा, जसवन्तपुरा, भीनमाल, रानीवाडा, सांचौर व चितलवाना के सम्बन्धित तहसीलदारों को सम्बन्धित तहसील क्षेत्रों का कार्यपालक मजिस्ट्रेट नियुक्त किया गया है। उन्होंने बताया कि सम्पूर्ण कानून व्यवस्था के प्रभारी अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट होंगे। उन्होंने बताया कि नियुक्त किए गए सभी कार्यपालक मजिस्ट्रेट उक्त पर्व पर अपने सम्पूर्ण कार्य क्षेत्र में कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए जिम्मेदार होंगे तथा कोई भी कार्यपालक मजिस्ट्रेट अपना कार्य क्षेत्र नहीं छोडेंगे साथ ही अवकाश पर नहीं जाएंगे।

प्रथम स्तरीय प्रशिक्षण 10 व 11 नवम्बर को
जालोर. जालोर नगरपरिषद व भीनमाल नगरपालिका आम चुनाव के लिए 10 व 11 नवम्बर को नगरीय निकाय चुनावों के लिए नियुक्त पीठासीन अधिकारियों, प्रथम मतदान अधिकारियों व द्वितीय मतदान अधिकारियों के प्रथम स्तरीय प्रशिक्षण आयोजित किए जाएंगे। जिला निर्वाचन अधिकारी महेन्द्र सोनी ने बताया कि निर्धारित कार्यक्रमानुसार नगरपरिषद जालोर का प्रशिक्षण 10 नवम्बर को पंचायत समिति जालोर के सभाभवन में तथा भीनमाल नगरपालिका का प्रशिक्षण 11 नवम्बर को सवेरे 10 बजे से शाम 5.00 बजे तक पंचायत समिति भीनमाल के सभाभवन में आयोजित किए जाएंगे। प्रशिक्षण में नगरीय निकायों के चुनाव के लिए नियुक्त पीठासीन अधिकारी, प्रथम मतदान अधिकारी व द्वितीय मतदान अधिकारी भाग लेंगे। प्रथम स्तरीय प्रशिक्षण में मतदान प्रक्रिया व ईवीएम प्रक्रिया आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी जाएगी। उन्होंने सम्बन्धित सभी मतदान अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे निर्धारित समय पर प्रशिक्षण में पहुचना अनिवार्य रूप से सुनिश्चित करें अन्यथा सम्बन्धित के विरूद्ध चुनाव नियमों के तहत आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।..१५

[MORE_ADVERTISE1]