स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

क्या पंचायत चुनाव में भाजपा को मिलेगा ST-SC आरक्षण बढ़ाने का लाभ

Prakash Kumawat

Publish: Dec 10, 2019 23:07 PM | Updated: Dec 10, 2019 23:07 PM

Jaipur

कानून मंत्री रविशंकरप्रसाद ने लोकसभा में मंगलवार को संविधान संशोधन विधेयक पेश किया। इसके लागू होने पर एससी और एसटी वर्ग का आरक्षण 10 वर्ष के लिए बढ़ जाएगा। राजस्थान भाजपा पंचायत चुनाव में इसका फायदा उठाने की तैयारी में जुटी है, पूरे प्रदेश में कार्यक्रमों की श्रंखलाबंद कार्यक्रम किए जा रहे हैं।

जयपुर
कानून मंत्री रविशंकरप्रसाद ने लोकसभा में मंगलवार को संविधान संशोधन विधेयक पेश किया। इसके लागू होने पर एससी और एसटी वर्ग का आरक्षण 10 वर्ष के लिए बढ़ जाएगा। राजस्थान भाजपा पंचायत चुनाव में इसका फायदा उठाने की तैयारी में जुटी है, पूरे प्रदेश में कार्यक्रमों की श्रंखलाबंद कार्यक्रम किए जा रहे हैं।
बता दें कि इस संविधान संशोधन विधेयक के पारित होने से एससी, एसटी वर्ग को फायदा मिलेगा, वहीं एंग्लोइंडियन इससे बाहर हो जाएंगे। राजस्थान भाजपा ने पंचायत चुनाव में इस विधेयक के जरिए एससी और एसटी वर्ग के वोटरों को लुभाने की रणनीति बनाई है। इसके तहत पीएम मोदी के आभार के साथ ही भाजपा के विचार को इस वर्ग तक पहुंचाने के लिए दो दिन तक मंडल व बूथ स्तर पर कार्यक्रम किए जाएंगे। ये सभी कार्यक्रम पार्टी के इन दोनों मोर्चो की ओर से किए जा रहे हैं। इन कार्यक्रमों के जरिए एससी, एसटी वर्ग में भाजपा के विचार को पहुंचाया जाएगा, वहीं मोदी सरकार की कल्याणकारी योजनाओं और महत्वपूर्ण फैसलों का प्रचार प्रसार किया जाएगा। आज मंडलों में बड़ी संख्या में कार्यक्रम आयोजित किए गए है, वहीं कल बूथ स्तर पर कार्यक्रम किए जाने की पूरी तैयारी कर ली। भाजपा के प्रदेश पदाधिकारी इस पूरे कार्यक्रमों की मॉनिटरिंग करने के साथ ही आवश्यक दिशा निर्देश भी दे रहे हैं।
केन्द्र की मोदी सरकार द्वारा एससी—एसटी वर्ग का आरक्षण 10 वर्ष बढ़ाने के फैसले के बाद से भाजपा में उत्साह के साथ ही जोश का संचार हुआ है।
मोदी सरकार के इस फैसले का राजस्थान के पंचायत चुनाव में पार्टी को लाभ की उम्मीद हैं। पार्टी नेताओं का कहना है कि कांग्रेस ने हमेशा जाति, धर्म और क्षेत्रवाद के आधारित राजनीति की है। जब से मोदी सरकार आई है कांग्रेस एससी एसटी वर्ग को भाजपा से दूर करने के लिए अनेक तरह के भ्रम फैलाती रही है। विपक्षी पार्टियां यह प्रचारित करती रही है कि भाजपा आरक्षण समाप्त करने जा रही है, ऐसे भ्रम और अफवाहों के चलते लोकसभा चुनाव के ठीक पहले पीएम मोदी को यह स्पष्ट करना पड़ा था कि भाजपा आरक्षण को समाप्त करने के लिए कोई कदम नहीं उठा रही है। उन्होंने यह भी विश्वास दिलाया था कि भाजपा सरकार इस आरक्षण से कोई छेड़छाड़ नही करेगी।

[MORE_ADVERTISE1]