स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अयोध्या को विशिष्ट तीर्थ स्थल बनाएगी यूपी सरकार

Dhairya Kumar Mishra

Publish: Nov 12, 2019 22:10 PM | Updated: Nov 12, 2019 22:10 PM

Jaipur

उत्तर प्रदेश सरकार अयोध्या को विशिष्ट तीर्थ स्थल बनाएगी। नव्य अयोध्या प्लान को मूर्त रूप देने के लिए अयोध्या तीर्थ विकास बोर्ड बनाया जाएगा। भव्य राम मंदिर के अलावा यहां जल्द ही करोड़ों की पर्यटन परियोजनाएं भी शुरू होंगी ताकि अयोध्या का कायाकल्प हो सके।

अयोध्या. उत्तर प्रदेश सरकार अयोध्या को विशिष्ट तीर्थ स्थल बनाएगी। नव्य अयोध्या प्लान को मूर्त रूप देने के लिए अयोध्या तीर्थ विकास बोर्ड बनाया जाएगा। भव्य राम मंदिर के अलावा यहां जल्द ही करोड़ों की पर्यटन परियोजनाएं भी शुरू होंगी ताकि अयोध्या का कायाकल्प हो सके। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस बोर्ड के गठन की घोषणा की। इसके तहत रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड आदि को अंतरराष्ट्रीय स्तर का बनाया जाएगा। सरकार की योजना अयोध्या को अंतरराष्ट्रीय स्तर के पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की है।
राज्य सरकार अयोध्या के संपूर्ण विकास के लिए ब्रज तीर्थ विकास परिषद की तर्ज पर अयोध्या तीर्थ विकास बोर्ड बनाएगी। इस संबंध में पर्यटन विभाग ने काम शुरू कर दिया है। अयोध्या के सुनियोजित विकास के लिए फिर से मास्टर प्लान बनेगा। अभी यहां केंद्र सरकार की स्वदेश दर्शन योजना और राज्य सेक्टर की कई परियोजनाएं चल रही हैं।
यहां अंतरराष्ट्रीय स्तर के होटल, रिजॉट्र्स और हवाई अड्डे का भी निर्माण होगा। क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी आरपी यादव के मुताबिक अयोध्या विवाद की वजह से यहां के 10 बड़े प्रोजेक्ट पंजीकरण के बाद से अटके थे। अब इन्हें गति मिलेगी। राजसदन को 5 करोड़ से अधिक खर्च करके हेरिटेज होटल बनाया जाएगा। फैजाबाद शहर में कोहिनूर पैलेस को भी हेरिटेज होटल के रूप में विकसित किया जाएगा। लगभग 10 करोड़ की लागत से करीब 8 होटल और रिजॉट्र्स बनाने की भी योजना है। अयोध्या में श्रीराम हवाई अड्डे को अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के रूप में विकसित किया जाएगा। अयोध्या से कोलकाता तक क्रूज का संचालन होगा। इसके लिए अयोध्या में सरयू नदी और वाराणसी में गंगा नदी को क्रूज से जोड़ा जाएगा। इसके लिए पर्यटन विभाग सारी औपचारिकताएं पूरी कर रहा है ताकि अयोध्या का दीदार करने वालों को रामराज की अवधारणा का अहसास हो सके।

[MORE_ADVERTISE1]