स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भारत-विंडीज सीरीज में पैर की नो बॉल पर टीवी अंपायर लेगा फैसला

Lalit Prasad Sharma

Publish: Dec 05, 2019 19:37 PM | Updated: Dec 05, 2019 19:37 PM

Jaipur

भारत और वेस्टइंडीज के बीच खेली जाने वाली टी-20 और वनडे सीरीज में नो बॉल को लेकर फैसला टीवी अंपायर लेगा। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आइसीसी) ने इस बात की पुष्टि की।

नई दिल्ली. भारत और वेस्टइंडीज के बीच खेली जाने वाली टी-20 और वनडे सीरीज में नो बॉल को लेकर फैसला टीवी अंपायर लेगा। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आइसीसी) ने इस बात की पुष्टि की। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के संयुक्त सचिव जयेश जॉर्ज ने पहले इस बारे में जानकारी दे दी थी। जयेश ने कहा, "हां, इस पर बात चल रही है। आइपीएल हमेशा से प्रयोगों के लिए रहा है और हमारी कोशिश है कि इसके हर सीजन में कुछ नई तकनीक आए और इससे खेल को आगे ले जाने में मदद मिले।"

संदेह का फायदा गेंदबाज को
जयेश ने कहा, अतीत में हमने देखा है कि पैर की नो बॉल एक मुद्दा रहा है और मेरा मानना है कि जिस तकनीक से इसकी जांच की जा सकती है उसका उपयोग करना चाहिए। इसे लेकर बड़े स्तर पर जांच की जानी है और हम वेस्टइंडीज सीरीज में भी इसे लागू करेंगे।" आइसीसी के मुताबिक, ट्रायल के दौरान तीसरे अंपायर की नजरें पैर की नो बॉल पर रहेंगी। अगर तीसरे अंपायर को लगता है कि यह नो बॉल थी तो वह मैदानी अंपायर को इसकी जानकारी देगा और मैदानी अंपायर अंतत: यह औपचारिक फैसला सुनाएगा। यहां यह बात समझना जरूरी है कि संदेह की स्थिति में फायदा गेंदबाज को होगा और अगर देर से नो बॉल का फैसला सुनाया जाता है तो मैदानी अंपायर पर विकेट को रद्द कर देगा (अगर होता है तो) और गेंद को नो बॉल करार देगा।

[MORE_ADVERTISE1]