स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जिन्होंने लड़ी चुनावी लड़ाई, अब उन्हें छुपा दिया

Jagdish Vijayvergiya

Publish: Nov 18, 2019 00:10 AM | Updated: Nov 18, 2019 00:10 AM

Jaipur

भाजपा-कांग्रेस ने की प्रत्याशियों की बाड़ाबन्दी

जयपुर. राज्य के 49 निकायों में मतदान के साथ उम्मीदवारों का भविष्य ईवीएम में कैद हो गया लेकिन राजनीतिक दलों की चिन्ता कम नहीं हुई है। हॉर्स ट्रेडिंग (सौदेबाजी) की आशंका से दोनों ही दल अपने-अपने प्रत्याशियों को बचाने की जुगत में जुट गए हैं। मतदान के अगले दिन रविवार को ही कई निकायों में दलों ने अपने-अपने प्रत्याशियों की बाड़ाबन्दी शुरू कर दी।
कहीं प्रत्याशियों को धार्मिक यात्रा के नाम पर एकसाथ रखा जा रहा है, कुछ जगह बस में बैठाकर परिवार से दूर गुप्त स्थान पर ले जाया गया। दरअसल, दोनों ही दल अपनी-अपनी जीत के दावे कर रहे हैं। दोनों दल तीन बड़े नगर निगमों सहित ज्यादा से ज्यादा निकायों में बोर्ड बनाने की जुगत में लगे हुए हैं। इसी कारण बाड़ाबन्दी की जा रही है। गौरतलब है कि सदस्य पदों के लिए मतगणना 19 को होगी जबकि निकाय अध्यक्ष पद के लिए 26 को मतदान होगा। तब तक दोनों दल पार्षदों को बचाए रखने की मशक्कत में जुटे हैं।

यहां हुई बाड़ाबन्दी
- पाली : विधायक ज्ञानचंद पारख, नगर परिषद सभापति महेन्द्र बोहरा ने रविवार को औद्योगिक क्षेत्र स्थित विधायक की फैक्ट्री से भाजपा प्रत्याशियों को बाड़ाबन्दी के रूप में कारों में बैठाकर गुप्त स्थान के लिए रवाना किया। सुमेरपुर नगर पालिका क्षेत्र में भाजपा विधायक जोराराम कुमावत ने भाजपा प्रत्याशियों और कांग्रेस की रंजू रामावत ने कांग्रेस प्रत्याशियों की बाड़ाबन्दी शुरू की। दोनों ही दलों के कई प्रत्याशियों को गुप्त स्थान पर ले जाया गया।
- पुष्कर : नगर पालिका चुनाव में भाजपा प्रत्याशियों की बाड़ाबन्दी के लिए पूर्व विधायक मानसिंह किनसरिया, देहात जिलाध्यक्ष बीपी सारस्वत, विधायक सुरेश सिंह रावत पुष्कर पहुंचे। माली मंदिर में केवल प्रत्याशियों की बैठक कर उन्हें अपने रोजमर्रा की जरूरतकी वस्तुएं लेकर पुन: इक_े होने को कहा गया। इसके बाद उन्हें पुष्कर से एक बस में मेड़ता के लिए रवाना किया गया।
- बांसवाड़ा : दोनों ही दलों के वरिष्ठ नेताओं ने रविवार शाम अपनी-अपनी पार्टी के प्रत्याशियों को जिले से बाहर रवाना कर दिया। दोनों ही दलों में खेमेबंदी के बाद अब संभावना है कि प्रत्याशी 19 नवम्बर को मतगणना के दिन ही लौटेंगे। इसके बाद विजेताओं को वापस बाहर ले जाया जाएगा। कांगे्रस प्रत्याशियों को शहरी सीमा से सटे एक रिसोर्ट में, भाजपा प्रत्याशियों को पार्टी कार्यालय में बुलाया गया। देर शाम उन्हें बसों से रवाना किया गया। सूत्रों की मानें तो कांगे्रस प्रत्याशियों को रणकपुर ले जाया गया जबकि भाजपा प्रत्याशी जयसमंद या उदयपुर के लिए रवाना किए गए।
- जैसलमेर : यहां कांग्रेस व भाजपा दोनों ने अपने-अपने पार्षदों की बाड़ाबंदी की है। दोनों दलों ने मजबूत नजर आ रहे निर्दलीयों पर भी नजरें गड़ाई हुई हैं। कुछ निर्दलीय तो अज्ञातवास पर ले जाए भी जा चुके हैं।
- बाड़मेर : यहां भाजपा ने प्रत्याशियों को अज्ञात स्थान भेज दिया। बालोतरा में भाजपा-कांग्रेस दोनों ने बाड़ेबंदी की है। बालोतरा में तो भाजपा प्रत्याशियों के मोबाइल भी पार्टी पदाधिकारियों ने ले लिए। बाड़मेर में कांग्रेस ने फिलहाल बाड़ेबंदी नहीं की है। रविवार को सभी प्रत्याशियों को एक होटल में एकत्र किया गया। सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस मतगणना के दिन सभी को सुरक्षित स्थान पर ले जाने की तैयारी में है।
- कानोड़ (उदयपुर) : कानोड़ में शनिवार को मतदान के तुरंत बाद भाजपा और जनता सेना ने प्रत्याशियों की बाड़ेबंदी कर दी। गोपनीय स्थान पर पहुंचाए गए भाजपा के प्रत्याशियों ने सोशल मीडिया पर फोटो वायरल कर दिया। कांग्रेस ने यहां रविवार दोपहर को मोर्चा संभाला।

[MORE_ADVERTISE1]