स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Farming : बिहार में अब सहजन की खेती को विस्तार

Hanuman Ram Galwa

Publish: Jan 15, 2020 20:14 PM | Updated: Jan 15, 2020 20:14 PM

Jaipur

Farming : बिहार सरकार ने सहजन के गुण और उपयोग के कारण राज्य में अब सहजन की खेती को बढ़ावा देने का निर्णय लिया है। सरकार का मानना है कि सहजन के विकसित प्रभेदों की खेती को बढ़ावा देकर न सिर्फ स्थानीय बल्कि दूर-दराज के बाजारों में सब्जी के रूप में सालभर उपलब्धता सुनिश्चित हो सकेगी, जिससे किसानों की आर्थिक स्थिति मजबूत हो सकेगी।

बिहार में अब सहजन की खेती को विस्तार
किसानों को मिलेगा 50 प्रतिशत अनुदान

पटना। बिहार सरकार ने सहजन के गुण और उपयोग के कारण राज्य में अब सहजन की खेती को बढ़ावा देने का निर्णय लिया है। सरकार का मानना है कि सहजन के विकसित प्रभेदों की खेती को बढ़ावा देकर न सिर्फ स्थानीय बल्कि दूर-दराज के बाजारों में सब्जी के रूप में सालभर उपलब्धता सुनिश्चित हो सकेगी, जिससे किसानों की आर्थिक स्थिति मजबूत हो सकेगी।
बिहार के कृषि मंत्री प्रेम कुमार ने बताया कि दक्षिण बिहार के 17 जिलों में सहजन की खेती कराई जाएगी। इसके लिए किसानों को सरकार 50 प्रतिशत अनुदान देगी। उन्होंने कहा कि सहजन की खेती पर प्रति हेक्टेयर लागत 74 हजार रुपए है, जिसमें 37,500 रुपए अनुदान मिलेगा। वर्ष 2019-20 एवं 2020-21 दो वर्षों में सहजन की खेती के लिए 353.58 लाख रुपए की योजना स्वीकृत है। कृषि मंत्री कुमार ने कहा कि यह योजना गया, औरंगाबाद, नालंदा, पटना, रोहतास, कैमूर, भागलपुर, नवादा, भोजपुर, जमुई, बांका, मुंगेर, लखीसराय, बक्सर, जहानाबाद, अरवल एवं शेखपुरा के किसानों के लिए है। उन्होंने कहा कि अनुदान राशि दो किस्तों में मिलेगी। उन्होंने कहा कि पहली किस्त में 27,780 रुपए और दूसरी किस्त में 9250 रुपए प्रति हेक्टेयर की दर से भुगतान किया जाएगा।

[MORE_ADVERTISE1]