स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पंचायत चुनाव में और देरी की कुछ लोग आस लगाए बैठे थे

Umesh Sharma

Publish: Jan 24, 2020 16:45 PM | Updated: Jan 24, 2020 16:45 PM

Jaipur

राजस्थान की शेष पंचायतों में चुनाव करवाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को राजस्थान सरकार को बड़ी राहत दी है। सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार अब सरकार के नोटीफिकेशन के मुताबिक ही चुनाव होंगे। राज्य चुनाव आयोग को अप्रेल के दूसरे हफ्ते में ही बाकी बचे हुए चुनाव करवाने होंगे। कोर्ट के इस निर्णय का डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने स्वागत किया है। साथ ही बातों ही बातों में अपनों पर ही निशाना साधा।

जयपुर।

राजस्थान की शेष पंचायतों में चुनाव करवाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को राजस्थान सरकार को बड़ी राहत दी है। सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार अब सरकार के नोटीफिकेशन के मुताबिक ही चुनाव होंगे। राज्य चुनाव आयोग को अप्रेल के दूसरे हफ्ते में ही बाकी बचे हुए चुनाव करवाने होंगे। कोर्ट के इस निर्णय का डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने स्वागत किया है। साथ ही बातों ही बातों में अपनों पर ही निशाना साधा।

विधानसभा के बाहर पायलट ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश के चलते अब प्रदेश में चुनाव बहुत जल्द संपन्न होंगे। जो नोटिफिकेशन सरकार और मंत्रालय ने निकाला था पंचायत समिति के निर्माण को लेकर उसे सुप्रीम कोर्ट ने सही ठहराया है। उन्होंने कहा कि ऐसे बहुत से लोग थे जो ये उम्मीद लगाए बैठे थे कि चुनाव और पोस्टपोंड होंगे। लेकिन चुनाव सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद जल्द हो रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट ने सही निर्णय लिया है। आज जीत लोकतंत्र की हुई है, जीत हम सब लोगों की हुई है जो चुनाव कराना चाहते हैं।

सरकार के नोटिफिकेशन को मिली मान्यता

उन्होंने कहा कि उससे पहले जो भी याचिका आई उन्हें खारिज करते हुए प्रदेश सरकार के तमाम नोटिफिकेशन को मान्यता मिली है और निर्वाचन आयोग को कहा गया है कि शीघ्र चुनाव कराए। अप्रेल तक चुनाव संपन्न कराने का सुप्रीम कोर्ट ने दिशा—निर्देश जारी किया है। लोकतंत्र में चुनाव होना चाहिए और ग्रामीण परिप्रेक्ष्य में रहने वाले लोगों के लिए यह चुनाव अत्यंत महत्वपूर्ण है।

[MORE_ADVERTISE1]