स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

स्कूली विद्यार्थियों की पढाई पर भारी व्याख्याता भर्ती परीक्षा

MOHIT SHARMA

Publish: Dec 11, 2019 10:09 AM | Updated: Dec 11, 2019 10:09 AM

Jaipur

व्याख्याता भर्ती परीक्षा से बोर्ड परीक्षार्थियों को होगा नुकसान, करीब 11 दिन बंद रहेंगे स्कूल, परीक्ष तिथि आगे खिसकाने की मांग

जयपुर। राजस्थान लोक सेवा आयोग की ओर से आयोजित की जा रही व्याख्याता भर्ती परीक्षा का असर स्कूली विद्यार्थियों पर भी देखने को मिलेगा। खासकर बोर्ड कक्षाओं के विद्यार्थियों को परेशानी अधिक होगी। 3 जनवरी से 13 जनवरी तक प्रदेश के अधिकांश स्कूलों में यह परीक्षा होगी। परीक्षा के दौरान स्कूलों का अवकाश रहेगा। ऐसे में विद्यार्थियों की 11 दिन कक्षाएं नहीं लगेंगी। इस बार बोर्ड परीक्षाएं भी करीब एक महीने पहले फरवरी में ही शुरू हो रही हैं। ऐसे में शिक्षक संगठनों और विद्यार्थियों ने व्याख्याता भर्ती परीक्षा की तिथि को आगे खिसकाने की मांग की है। शिक्षक संगठनों और विद्यार्थियों का कहना है कि जनवरी महीना उनकी पढ़ाई की दृष्टि से महत्वपूर्ण है। ऐसे में व्याख्याता परीक्षा उन्होंने ग्रीष्मावकाश में कराने की सरकार से मांग की है। करीब 20 लाख विद्यार्थी इस बार कक्षा 10 और 12 की बोर्ड परीक्षा देंगे।

ऐसे हुई पढ़ाई प्रभावित
अभी हाल ही 6 और 7 दिसम्बर को शिक्षकों के सम्मेलन थे। उसके बाद 10 दिसम्बर से अर्द्धवार्षिक परीक्षाएं शुरू हो गई जो करीब 22—23 दिसम्बर तक चलेंगी, उसके बाद 24 से 31 दिसम्बर तक शीतकालीन अवकाश रहेगा। इसके बाद 1 जनवरी को स्कूल खुलेंगे 2 जनवरी को गुरु गोविंद सिंह जयंती का अवकाश रहेगा और 3 से 13 जनवरी 2020 तक आरपीएससी की व्याख्याता भर्ती परीक्षा के कारण स्कूलों में अवकाश रहेगा। ऐसे में बच्चों की पढ़ाई करीब 1 महीने से भी ज्यादा समय तक प्रभावित होगी।

शिक्षक भी व्यस्त
दूसरी ओर करीब डेढ़ लाख विभाग के शिक्षक भी व्याख्याता भर्ती की परीक्षा दे रहे हैं उनको तैयारी के लिए समय नहीं पा रहा है। ऐसे में वह दिसंबर में अवकाश लेकर तैयारी कर रहे हैं। इन बच्चों को पढ़ाने वाले शिक्षक उपलब्ध ही स्कूलों में नहीं है। विभाग के करीब 50 हजार शिक्षक बीएलओ लगे हैं और निर्वाचन विभाग का मतदाता सूचियों के कार्य में लगे हैं। ऐसे में विद्यार्थियों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। पिछले करीब 12 दिन से राजस्थान विश्वविद्यालय के बाहर भी विद्यार्थी व्याख्याता भर्ती परीक्षा की तिथि बढ़ाने को लेकर धरना दे रहे हैं।

[MORE_ADVERTISE1]