स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

रणथम्भौर: वन विभाग ने जोन एक में किया पर्यटन बंद

Girraj prasad sharma

Publish: Jan 25, 2020 01:14 AM | Updated: Jan 25, 2020 01:14 AM

Jaipur

फिर पर्यटन वाहन के पीछे दौड़ी सुल्ताना, सुबह की पारी में जोन एक का मामला

सवाईमाधोपुर. रणथम्भौर राष्ट्रीय उद्यान जोन एक में शुक्रवार सुबह की पारी में एक सरकारी वाहन में भ्रमण पर गए पर्यटकों के वाहन पर बाघिन ने अपने पैरों से धक्का दिया। बाघिन कुछ दूरी तक वाहन का पीछा भी किया। बाघिन कुछ दूर चलने के बाद रुक गई। वन सूत्रों के अनुसार घटना के दौरान जोन एक में भारत में अमेरिका के राजदूत कैनेथ आई. जस्टर व पूर्व वनमंत्री बीना काक भी मौजूद थे। घटना के बाद दोनों ही पार्क भ्रमण को अधूरा छोड़कर जल्द ही पार्क से बाहर निकल आए। वहीं अन्य पर्यटन वाहनों को भी बाहर भेज दिया गया।

शिकार खाते समय किया डिस्टर्ब

सूत्रों के अनुसार बाघिन सुल्ताना ने खारया की तलाई के पास चीतल का शिकार किया था। वह शिकार को लेकर सुरक्षित स्थान पर जा रही थी। इस दौरान भी पर्यटन वाहनों ने उसका पीछा नहीं छोड़ा। झाडिय़ों की आड़ में बाघिन ने शिकार खाना शुरू किया तो कुछ सरकारी व निजी वाहन बाघिन के बिल्कुल नजदीक पहुंच गए। इस पर एक जिप्सी को अपनी ओर आते देख बाघिन उत्तेजित हो गई। वहीं वाहन के पीछे के हिस्से पर अपने आगे के दो पैर टेक दिए। घबराकर चालक ने जिप्सी को आगे लिया तो बाघिन ने कुछ दूर जिप्सी का पीछा किया। इससे पर्यटकों में अफरा-तफरी मच गई।

जोन एक में पर्यटन पर अस्थायी प्रतिबंध

घटना के बाद वन विभाग की ओर से एहतियात के तौर पर आगामी आदेशों तक जोन एक में पर्यटन पर प्रतिबंध लगा दिया है। हालांकि वनाधिकारी फिलहाल इस मामले में स्पष्ट तौर पर कुछ नहीं बोल रहे हैं। वहीं जोन एक में पर्यटन बंद करने के पीछे वनाधिकारी वन्यजीव प्रबंधन का तर्क दे रहे हैं।

इनका कहना है...

रणथम्भौर में वन्यजीव प्रबंधन के कारण अग्रिम आदेशों तक जोन एक पर्यटन पर प्रतिबंध लगाया गया है। बाघिन के वाहन के पीछे दौडऩे के बारे में मुझे जानकारी नहीं है।

- अरविंद कुमार झा, उपवन संरक्षक, रणथम्भौर बाघ परियोजना(पर्यटन), सवाईमाधोपुर

[MORE_ADVERTISE1]