स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बसपा की प्रदेश बैठक में मचा बवाल, कुर्सियां फेंकी और सरिए चलाए, प्रदेश महासचिव का सिर फटा

kamlesh sharma

Publish: Sep 22, 2019 20:05 PM | Updated: Sep 22, 2019 21:21 PM

Jaipur

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) से छह विधायकों का कांग्रेस में जाने का बवाल बड़ रहा है। इस मामले को लेकर बसपा की आकस्मिक प्रदेश स्तरीय बैठक में रविवार को जमकर हंगामा हुआ। कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रीय नेताओं के खिलाफ नारेबाजी की और कुर्सियां फेंक दी।

शादाब अहमद/जयपुर। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) से छह विधायकों का कांग्रेस में जाने का बवाल बड़ रहा है। इस मामले को लेकर बसपा की आकस्मिक प्रदेश स्तरीय बैठक में रविवार को जमकर हंगामा हुआ। कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रीय नेताओं के खिलाफ नारेबाजी की और कुर्सियां फेंक दी। इसके बाद कार्यकर्ताओं के दो गुट आमने-सामने हो गए। इस दौरान कुछ लोगों ने सरिए के वार से प्रदेश महासचिव प्रेम बारूपाल का सिर फाड़ दिया। इस मामले में सिंधी केंप पुलिस थाने में मुकदमा भी दर्ज कराया गया है।

प्रदेश में दस साल में दूसरी बार बसपा के छह विधायकों का कांग्रेस में जाने से बसपा में हडक़ंप मचा हुआ है। पार्टी में इस स्थिति से निपटने के लिए बसपा ने सिंधी केंप के समीप एक होटल में प्रदेश स्तरीय आकस्मिक बैठक बुलाई। बैठक शुरू होते ही विधायकों के समर्थक रहे कई कार्यकर्ताओं ने बसपा के राष्ट्रीय समन्वयक रामजी गौतम, प्रदेश प्रभारी भगवान सिंह बाबा के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी।

इससे बैठक में माहौल गर्माया गया। दूसरे पक्ष के कार्यकर्ता इसका विरोध करने लगे तो मामला बढ़ गया और दोनों ओर से कुर्सियां फेंकनी शुरू कर दी। इसी बीच कुछ लोग सरिये लेकर आ गए और प्रदेश महासचिव बारूपाल पर वार कर दिया।

बसपा की प्रदेश बैठक में मचा बवाल, कुर्सियां फेंकी और सरिए चलाए, प्रदेश महासचिव का सिर फटा

इससे बैठक में अफरा-तफरी मच गई। बसपा नेताओं की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। बाद में पुलिस की मौजूदगी में बैठक हुई। वहीं घायल बारूपाल का प्राथमिक उपचार करवाया और उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष सीतराम मेघवाल के साथ जाकर सिंधी केंप पुलिस थाने में करीब एक दर्जन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया।

मंच पर बैठे नेताओं पर हमले का प्रयास
बसपा प्रदेश महासचिव प्रेम बारूपाल ने बताया कि मंच पर बैठे राष्ट्रीय और प्रदेश स्तरीय नेताओं पर कुछ लोगों ने हमले का प्रयास किया। मैने उन्हें रोका तो मुझ पर सरिये से वार कर दिया। थाने में कार्रवाई के लिए रिपोर्ट दे दी है।

बाहरी लोगों को लाए निष्कासित कार्यकर्ता
बसपा प्रदेश अध्यक्ष सीताराम मेघवाल ने कहा कि आकस्मिक बैठक में पार्टी से निष्कासित कार्यकर्ता बाहरी लोगों को लेकर पहुंचे और नारेबाजी की। साथ ही कुर्सियां फेंक दी और सरिये से नेताओं पर हमला किया। ऐसा कृत्य निंदनीय है।