स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

राजस्थान में अच्छी वर्षा से 400 बांध लबालब

Sanjay Kaushik

Publish: Sep 23, 2019 06:00 AM | Updated: Sep 23, 2019 03:48 AM

Jaipur

राजस्थान(Rajasthan) में इस बार मानसून(Monsoon) के मेहरबान(Kind) रहने से पानी की अच्छी आवक होने से अब तक छोटे-बड़े 400 बांध(400 Dams) लबालब (Overflow) हो चुके हैं जबकि 243 बांध आंशिक रुप से भर गए(243 Partly Filled) है।

-810 प्रदेश में कुल बांध

-243 बांध आंशिक रूप से भरे

-167 बांध अभी खाली

जयपुर। राजस्थान(Rajasthan) में इस बार मानसून(Monsoon) के मेहरबान(Kind) रहने से पानी की अच्छी आवक होने से अब तक छोटे-बड़े 400 बांध(400 Dams) लबालब (Overflow) हो चुके हैं जबकि 243 बांध आंशिक रुप से भर गए(243 Partly Filled) है। जल संसाधन विभाग से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार प्रदेश के कुल 810 बांधों में अब तक 400 बांध पूर्ण रूप से भर चुके है तथा 243 बांध आंशिक रूप से भर गए, जबकि 167 बांध अभी खाली है।

-बांधों का जलस्तर 10726.53 एमक्यूएम पहुंचा

अच्छी बरसात के कारण राज्य के छोटे-बड़े सभी बांधों का जलस्तर 10726.53 एमक्यूएम पहुंच गया, जो भराव क्षमता का 84.45 प्रतिशत है। इनमें बृहद 22 बांधों का जलस्तर 7563.82 एमक्यूएम पहुंचा जो इनकी भराव क्षमता का 93.39 प्रतिशत है। इसी तरह प्रदेश के 4.25 एमक्यूएम से अधिक भराव क्षमता के मध्यम एवं लघु 258 बांधों का जलस्तर भी 2562.01 एमक्यूएम पहुंच गया जो भराव क्षमता का 70.12 प्रतिश्त तथा 4.25 एमक्यूएम से कम भराव क्षमता वाले 530 बांधों का जल स्तर 595.69 एमक्यूएम पहुंच गया, जो इनकी भराव क्षमता का 63.51 प्रतिशत है।

-बांधों से पानी की निकासी जारी

प्रदेश के बांसवाड़ा के माही बजाज सागर बांध से अभी भी सोलह गेट खोलकर 48706 क्यसेक पानी छोड़ा जा रहा है। इसी तरह चित्तौडग़ढ़ के राणा प्रताप सांगर बांध से छह गेट खोलकर 204840 क्यूसेक, कोटा के कोटा बैराज बांध से 195228 एवं जवाहर सागर बांध से 217862 क्यूसेक पानी की निकासी की जा रही है। इसके अलावा टोंक जिले में स्थित बिसलपुर बांध से भी एक गेट खोलकर 9015 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है।

-अगले 24 घंटे में भारी बारिश की संभावना...जलस्तर और बढऩे की उम्मीद

रविवार सुबह आठ बजे तक पिछले चौबीस घंटों में प्रदेश के बांधों के 33.25 एमक्यूएम की वृद्धि हुई और आगामी चौबीस घंटे में कोटा एवं उदयपुर संभाग में कुछ स्थानों पर भारी वर्षा की संभावना से इन बांधों के जलस्तर में और बढ़ोतरी होने की उम्मीद है।