स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मध्यम वर्ग के लिए भी हेल्थ केयर सिस्टम लाने की तैयारी

Dhairya Kumar Mishra

Publish: Nov 19, 2019 22:21 PM | Updated: Nov 19, 2019 22:21 PM

Jaipur

केंद्र सरकार मध्यमवर्गीय परिवार के लिए हेल्थकेयर सिस्टम योजना ला सकती है। नीति आयोग इसे तैयार करने पर विचार कर रहा है।

नई दिल्ली. केंद्र सरकार मध्यमवर्गीय परिवार के लिए हेल्थकेयर सिस्टम योजना ला सकती है। नीति आयोग इसे तैयार करने पर विचार कर रहा है। सोमवार को आयोग ने कहा कि नए सिस्टम का लाभ ऐसे लोगों को मिलेगा, जो वर्तमान में लागू सभी योजनाओं से वंचित हैं। इनमें उन लोगों को कवर किया जाएगा, जो आयुष्मान भारत योजना में शामिल नहीं हैं। आयुष्मान भारत योजना का लाभ देश की लगभग 40 प्रतिशत जनसंख्या को मिल रहा है। नीति आयोग के वाइस चेयरमैन राजीव कुमार ने सोमवार को बिल गेट्स की मौजूदगी में 'हेल्थ सिस्टम फॉर ए न्यू इंडिया : बिल्डिंग ब्लॉक्स-पोटेंशियल पाथवेस टू रिफॉर्मÓ रिपोर्ट पेश की। इसमें हेल्थ सिस्टम क्षेत्र चिह्नित किए गए हैं। रिपोर्ट में जन स्वास्थ्य का अपूर्ण एजेंडा पूरा करना, बड़ी बीमा कंपनियों में निवेश करके व्यक्तिगत स्वास्थ्य व्यय को घटाना, सेवा वितरण को आपस में जोडऩा, स्वास्थ्य सेवा का बेहतर खरीदार बनाने के लिए नागरिकों का सशक्तिकरण करना और डिजिटल स्वास्थ्य की शक्ति का लाभ पाना शामिल हैं। योजना के लिए ३०० रुपए का प्रीमियम लगाया जा सकता है। रि पोर्ट में कहा गया है कि भारत में स्वास्थ्य पर होने वाले कुल खर्च का 62 प्रतिशत आउट ऑफ पॉकेट फंडिंग होता है। इससे परिवार की आर्थिक स्थिति बिगड़ जाती है। आयोग में स्वास्थ्य सलाहकर आलोक कुमार ने कहा कि देश के गरीब लोग आयुष्मान योजना के तहत चिकित्सा सुविधाएं ले रहे हैं, जो उनकी सभी चिकित्सा जरूरतों को पूरा करता है। अब भी लगभग 50 प्रतिशत लोग किसी भी सामूहिक स्वास्थ्य केयर योजना के दायरे में नहीं हैं।

[MORE_ADVERTISE1]