स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

70 दिनों बाद कश्मीर में पोस्टपेड मोबाइल सेवाएं बहाल

Dhairya Kumar Mishra

Publish: Oct 15, 2019 00:36 AM | Updated: Oct 15, 2019 00:36 AM

Jaipur

कश्मीर घाटी में 70 दिनों बाद सोमवार दोपहर 12 बजे से पोस्टपेड मोबाइल फोन सेवा बहाल कर दी गई। इसके साथ ही 5 अगस्त को अनुच्छेद 370 निष्प्रभावी होने के 70 दिनों बाद पूरी वादी में मोबाइल की घंटियां बजने लगीं।

श्रीनगर . कश्मीर घाटी में 70 दिनों बाद सोमवार दोपहर 12 बजे से पोस्टपेड मोबाइल फोन सेवा बहाल कर दी गई। इसके साथ ही 5 अगस्त को अनुच्छेद 370 निष्प्रभावी होने के 70 दिनों बाद पूरी वादी में मोबाइल की घंटियां बजने लगीं। इससे 40 लाख लोगों को राहत मिली। हालांकि मोबाइल इंटरनेट सेवा के लिए अभी कुछ और इंतजार करना पड़ेगा। साथ ही प्रीपेड मोबाइल सेवा पर भी फैसला बाद में होगा।
5 अगस्त को अनुच्छेद-370 को निष्प्रभावी करने के बाद से मोबाइल और इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगा दी गई थी। कठुआ मेंं पुलिस की पासिंग आउट परेड कार्यक्रम में राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कश्मीर के लोगों की जान टेलीफोन से ज्यादा जरूरी है। घाटी में कुछ लोग इस सुविधा का गलत इस्तेमाल कर रहे थे, इसलिए इसे बंद किया गया था। स्थिति बेहतर होने पर लैंडलाइन के बाद पोस्टपेड मोबाइल सेवा भी शुरू कर दी गई है।
सरकार के प्रवक्ता रोहित कंसल ने शनिवार को बताया था की घाटी में अब बिना किसी रुकावट के पर्यटक आ सकते हैं। पोस्टपेड मोबाइल सेवा बहाल होने से पर्यटकों के साथ आम लोगों को भी सुविधा होगी। कारोबारियों से लेकर उद्योगपतियों को आतंकियों और अलगाववादियों से डरने की जरूरत नहीं है। सभी अपने रूटीन कामकाज शुरू करें। कंसल ने कहा कि सुरक्षा एजेंसियों के पास पुख्ता इनपुट हैं कि आतंकी राज्य में बड़े हमलों की साजिश रच रहे हैं।