स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सावरकर पर छिड़ा संग्राम

Anoop Singh

Publish: Dec 15, 2019 00:54 AM | Updated: Dec 15, 2019 00:54 AM

Jaipur

मेरा नाम 'राहुल सावरकर' नहीं है, सच बोलने पर माफी नहीं मांगूंगा: राहुल

नई दिल्ली.
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को यहां भाजपा की तरफ से की गई माफी की मांग पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि उनका नाम 'राहुल सावरकर' नहीं है, उनका नाम राहुल गांधी है और वह सच बोलने के लिए माफी नहीं मांगेंगे। उन्होंने कहा कि माफी (प्रधानमंत्री) नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को इस देश से मांगनी चाहिए। राहुल गांधी ने यहां रामलीला मैदान में कांग्रेस की ओर से आयोजित 'भारत बचाओ रैली' में उपस्थित विशाल जनसमूह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा, कल संसद में भाजपा के लोगों ने कहा कि आप अपने भाषण के लिए माफी मांगिए। लेकिन मैं आपको बता दूं कि मेरा नाम 'राहुल सावरकर' नहीं है, मेरा नाम 'राहुल गांधी' है। मर जाऊंगा, लेकिन माफी नहीं मांगूंगा। सच बोलने के लिए मैं माफी नहीं मांगूंगा। कांग्रेस का कोई व्यक्ति माफी नहीं मांगेगा

सावरकर सिर्फ महाराष्ट्र के ही नहीं, देश के देवता हैं, अपमान न करें: राउत

शिवसेना सांसद संजय राउत ने ट्वीट कर कहा है कि सभी महानायकों का सम्मान होना चाहिए। उन्होंने सावरकर को सिर्फ महाराष्ट्र नहीं, पूरे देश के लिए गौरव बताया है। राउत ने कहा है कि नेहरू-गांधी की तरह सावरकर ने भी देश के लिए बलिदान दिया था। उन्होंने ट्वीट किया- 'वीर सावरकर सिर्फ महाराष्ट्र के ही नहीं, देश के देवता हैं, सावरकर नाम में राष्ट्र अभिमान और स्वाभिमान है। नेहरू-गांधी की तरह सावरकर ने भी देश की आजादी के लिए जीवन समर्पित किया। इस देवता का सम्मान करना चाहिए। उसमें कोई भी समझौता नहीं होगा। जय हिंद। राउत ने आगे ट्वीट किया- 'हम पंडित नेहरू, महात्मा गांधी इन्हें मानते हैं, आप भी वीर सावरकर का अपमान मत करो। जो समझदार होता है उसे ज्यादा बताने की जरूरत नहीं होती। जय हिंद।'
धार के 'सरनेम' से कोई गांधी नहीं होता: गिरिराज
पटना. केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने शनिवार को कहा कि उधार का 'सरनेम' लेने से कोई गांधी नहीं होता, कोई देशभक्त नहीं बनता। उन्होंने कहा कि देशभक्त होने के लिए रगों में शुद्घ हिंदुस्तानी रक्त चाहिए। बिहार के बेगूसराय से सांसद गिरिराज ने बिना किसी का नाम लिए अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया, "वीर सावरकर तो सच्चे देशभक्त थे। उधार का सरनेम लेने से कोई गांधी नहीं होता, कोई देशभक्त नहीं बनता। देशभक्त होने के लिए रगों में शुद्घ हिंदुस्तानी रक्त चाहिए। वेश बदलकर बहुतों ने हिंदुस्तान को लूटा है, अब यह नहीं होगा।" इस ट्वीट के साथ भाजपा के फायरब्रांड नेता कहे जाने वाले सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी की तस्वीर साझा करते हुए सवाल पूछा कि ये तीनों कौन है? क्या ये तीनों देश के आम नागरिक हैं?

[MORE_ADVERTISE1]