स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अलसुबह 5 बजे स्मृति वन में हुआ पैंथर का मूवमेंट,ट्रैप कैमरे में कैद हुई पैंथर की तस्वीर

HIMANSHU SHARMA

Publish: Sep 23, 2019 09:10 AM | Updated: Sep 23, 2019 09:10 AM

Jaipur

पैंथर को पकड़ने के लिए लगाए थे पिंजरा-ट्रैप कैमरे

जयपुर
झालाना जंगल से आबादी क्षेत्र में आया पैंथर आज अलसुबह फिर से दिखाई दिया। हालांकि यह किसी वयक्ति को दिखाई नहीं दिखाई बल्कि आज अलसुबह करीब पांच बजे पैंथर की तस्वीर ट्रैप कैमरे में कैद हुई। विभाग के अधिकारियों की माने तो अलसुबह 5 बजे स्मृति वन में पैंथर का मूवमेंट हुआ है। वन विभाग ने पैंथर को पकड़ने के लिए पिंजरा भी लगाया है लेकिन वह उसमें कैद नहीं हुआ। हालांकि वन विभाग की ओर से लगाए गए ट्रैप कैमरे में पैंथर बार बार कैद हो रहा है। कैमरे में पैंथर की तस्वीर तो नजर आई लेकिन उसके बाद वह कहां गया इसका पता नहीं लग पा रहा है। लेकिन ट्रेप कैमरे में यह तीसरी बार दिखाई दिया है जिससे विभाग के अधिकारी अंदाजा लगा रहे है कि जेएलएन मार्ग स्थित कुलिश स्मृति वन में पैंथर का मूवमेंट लगातार बना हुआ है। लेकिन वन में यह किस ओर छूपा है इसके बारे में विभाग के अधिकारी फिलहाल कुछ भी नहीं कह पा रहे है। गौरतलब है कि सप्ताहभर पहले झालाना के जंगल से यह पैंथर झालाना के आबादी क्षेत्र में आ गया था। इस पैंथर को लगातार दो दिन तक झालाना संस्थानिक क्षेत्र स्थित ललित कला अकादमी में देखा गया था। इसने अकादमी में एक श्वान का शिकार भी किया था। लेकिन इसके बाद से यह गायब हो गया था। इसके बाद अनुमान लगाया गया था कि पैंथर स्मृति वन में कही हो सकता है। जिसके बाद वन विभाग को ट्रेप कैमरे में यह तीन बार दिखाई दी। लेकिन उसके पगमार्ग नहीं दिखाई देने से मूवमेंट का पता नहीं लग पाया है। विभाग ने एहतियात और लोगों की सुरक्षा की दृष्टि से कुलिश स्मृति वन में भी लोगों की आवाजाही पर रोक लगा रखी ह। विभाग के अधिकारियों का कहना है कि जब तक पैंथर की लोकेशन के बारे में पता नहीं चलेगा स्मृति वन लोगों के लिए नहीं खोला जा सकता है।