स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

CAA-NRC के विरोध में जयपुर में 9 जनवरी को फिर बड़ा मार्च, जुटेंगे 40 से ज्यादा संगठन

Firoz Khan Shaifi

Publish: Jan 06, 2020 18:01 PM | Updated: Jan 06, 2020 18:01 PM

Jaipur

शहीद स्मारक पर धरना और कलेक्ट्रेट तक होगा पैदल मार्च, CAA-NRC कानून को वापस लेने की मांग

जयपुर। नागरिकता संशोधन कानून यानी सीएए और एनआरसी को लेकर राजधानी जयपुर में एक बार फिर बड़े विरोध प्रदर्शन की तैयारी की जा रही है। अंबेडकराइट पार्टी ऑफ इंडिया के बैनतले ये विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। 9 जनवरी को प्रस्तावित इस विरोध प्रदर्शन को लेकर अंबेडकराइट पार्टी का दावा है कि उनके साथ चालीस से ज्यादा समाजिक संगठन इस विरोध में शामिल होंगे।

अंबेडकर राइट पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष दशरथ हिनूनिया ने बताया कि इस विरोध प्रदर्शन में 5 हजार से ज्यादा लोग जुटेंगे। उन्होंने बताया कि सीएए और एनआरसी कानून संविधान की मूल भावना के खिलाफ है, और सरकार वर्तमान समस्याओं से ध्यान भटकाने के लिए सीएए और एनआरसी जैसे कदम उठा रही है। उन्होंने कहा कि सीएए, एनआरसी से देश को कोई फायदा नहीं होने वाला बल्कि इससे देश को नुकसान ही होगा।


अंबेडकर राइट पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष दशरथ हिनूनिया ने बताया कि इसी को लेकर 8 जनवरी को पूरे प्रदेश में सभी जिला मुख्यालयों पर प्रदर्शन किया जाएगा और 9 जनवरी को प्रदेश स्तरीय धरना प्रदर्शन पुलिस कमिश्नेरट स्थित शहीद स्मारक पर किया जाएगा।

शहीद स्मारक पर सुबह 11 बजे दोपहर 3 बजे तक धरना दिया जाएगा और उसके बाद एक पैदल मार्च निकाला जाएगा और जो शहीद स्मारक से जिला कलेक्ट्रेट तक जाएगा, कलेक्ट्रेट पर जाकर राष्ट्रपति के नाम कलेक्टर को ज्ञापन देकर सीएए और एनआरसी को वापस लेने की मांग की जाएगी। उन्होंने बताया कि ओबीसी महापंचायत, जमाते इस्लामी हिंद, दलित मुस्लिम एकता मंच, सांझी विरासत जैसे संगठन भी इस विरोध प्रदर्शन में शामिल होंगे।


बता दें कि सीएए-एनआरसी के विरोध में 22 दिसंबर को एक बड़ा मार्च निकाला गया था, जिसमें हजारों की तादाद में तख्तियां-बैनर लेकर लोगसड़कों पर उतरते थे। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, डिप्टी सीएम सचिन पायलट सहित कैबिनेट के कई सदस्य इस मार्च में शामिल हुए थे।

[MORE_ADVERTISE1]