स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

आज से स्कूलों में शुरू हुआ संविधान का पाठ

MOHIT SHARMA

Publish: Jan 26, 2020 11:16 AM | Updated: Jan 26, 2020 11:16 AM

Jaipur

प्रार्थना सभा में पढ़ाई संविधान की प्रस्तावना, कक्षा 1 से 12 तक की किताबों में पहले पेज पर छपेगी संविधान की उद्देशिका, हिंदी और अंग्रेजी भाषा में छपेगी संविधान की उद्देशिका

जयपुर। प्रदेशभर के 65 हजार 127 में आज से प्रार्थना सभा में अब रोज संविधान की उद्देशिका पढ़ाई जाएगी। इसके साथ ही आगामी सत्र से किताबों के पहले पेज पर संविधान की उद्देशिका भी छपी होगी। यह उद्देशिका हिंदी माध्यम की किताबों में हिंदी में और अंग्रेजी विषय व अंग्रेजी माध्यम की किताबों में अंग्रेजी में छपेगी।
पहला दिन होने से आज थोड़ी परेशानी हुई। आज स्कूलों में विद्यार्थियों की उपस्थिति भी कम ही रही।

ये बताया प्रार्थना सभा में
भारतीय संविधान की प्रस्तावना का मतलब विद्यार्थियों को बताया गया। जिसमें बताया कि 26 नवंबर 1949 को भारत का संविधान पारित हुआ और 26 जनवरी 1950 से प्रभावी हुआ। डॉ. भीम राव अंबेडकर को भारत का संविधान निर्माता कहा जाता है, वे संविधान मसौदा समिति के अध्यक्ष थे। भारत का संविधान लिखित संविधान है। इसकी शुरुआत में एक प्रस्तावना भी लिखी है, जो संविधान की मूल भावना को सामने रखती है। प्रस्तावना को कैसे लाया गया, संविधान में प्रस्तावना कहां से ली गई। संविधान के स्रोत, स्वरूप, प्रस्तावना में प्रारंभिक पांच शब्द है संपूर्ण प्रभुत्व संपन्न, समाजवादी, पंथनिरपेक्ष, लोकतंत्रात्मक, गणराज्य के बारे में बताया।

गणतंत्र दिवस पर आज प्रदेशभर के सरकारी स्कूलों, कॉलेजों और विश्वविद्यालयों सहित सभी शिक्षण संस्थाओं में झंडा रोहण किया गया। इस अवसर पर कई सांस्कृतिक कार्यक्रम भी हुए। हालांकि निजी शिक्षण संस्थानों में आज कई जगह अवकाश भी रहा। कईयों ने एक दिन पहले ही गणतंत्र दिवस मना लिया।

[MORE_ADVERTISE1]