स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जूते पहन संस्था प्रधान कक्ष में प्रवेश करने पर शिक्षक-शिक्षिका को नोटिस

vinod saini

Publish: Dec 11, 2019 00:31 AM | Updated: Dec 11, 2019 00:31 AM

Jaipur

जिले के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय (Government higher secondary school) पडौली गोर्धन में संस्था प्रधान (Institution head) कक्ष में जूते-चप्पल (Boots) पहनकर प्रवेश व बाथरूम के उपयोग को लेकर शिक्षक-शिक्षिका (Teacher ) को नोटिस थमाया (Served notice) गया हैं।

राउमावि पड़ोली गोर्धन का मामला
बांसवाड़ा। जिले के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय (Government higher secondary school) पडौली गोर्धन में संस्था प्रधान (Institution head) कक्ष में जूते-चप्पल (Boots) पहनकर प्रवेश व बाथरूम के उपयोग को लेकर शिक्षक-शिक्षिका (Teacher ) को नोटिस थमाया (Served notice) गया हैं। मंगलवार को नोटिस सोशल साइट्स पर भी वायरल हुआ। हांलाकि मामले में संस्था प्रधान का तर्क है कि स्वच्छता के लिए कक्ष में कालीन खराब न हो इसके लिए दोनों को पाबंद किया है, वही दूसरी ओर शिक्षक संगठन ने इस कार्रवाई का विरोध शुरू किया हैं।
जानकारी के अनुसार संस्था प्रधान स्नेहलता नेहरा ने शिक्षिका निलांजना चौबीसा एवं शिक्षक पवन पारगी को नोटिस जारी कर दो दिन में स्पष्टीकरण मांगा हैं। नोटिस में बताया कि संस्था प्रधान कक्ष में जूते-चप्पल पहनकर नही आने के लिए पूर्व में भी पाबंद किया जा चुका है, इसके बावजूद जूते पहनकर प्रवेश करने के साथ ही कक्ष के बाथरूम का उपयोग किया जा रहा है। इसे आदेश की अवहेलना बताते हुए जवाब मांगा गया हैं। साथ ही पालना नही करने पर १७ सीसीए की कार्रवाई प्रस्तावित करने का कहा गया हैं। इधर, मामला सीडीईओ एंजिलिका पलात तक भी पहुंचा है। उनका कहना है कि संस्था प्रधान कक्ष में प्रवेश में किसी प्रकार की पाबंदी नहीं है। नोटिस की यह कार्रवाई गलत है।

इधर, शिक्षक संघ प्राथमिक और माध्यमिक के जिलामंत्री लक्ष्मीनारायण सिंह ने बताया कि बाथरूम का उपयोग बिना जूतों से कैसे होगा। यह कार्रवाई गलत है। संगठन इसका विरोध करता है।

[MORE_ADVERTISE1]