स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ध्यानचंद को भारत रत्न नहीं मिलना पूरे देश का दुर्भाग्य

Surya Pratap Singh Rajawat

Publish: Oct 10, 2019 16:29 PM | Updated: Oct 10, 2019 16:47 PM

Jaipur

-जयपुर आए मेजर ध्यानचंद के बेटे अशोक कुमार ने पत्रिका प्लस से शेयर किए एक्सपीरियंस

जयपुर. जिस इंसान के बर्थडे को नेशनल स्पोटï्र्स डे के रूप में मनाया है। जिसने हॉकी में इंडिया को ओलम्पिक्स में गोल्ड मेडल्स दिलाए। जिसे देश ही नहीं पूरी दुनिया हॉकी के जादूगर के नाम से जानती है, ऐसे शख्स को भारत रत्न नहीं मिलना पूरे देश का दुर्भाग्य है। भारत रत्न जैसे सम्मान को राजनीति में फंसाना गलत है। ये कहना है मेजर ध्यानचंद के बेटे अशोक कुमार का। बुधवार को जयपुर पहुंचे अशोक कुमार ने कहा कि बाबा को भारत रत्न मिले ये सिर्फ हमारी ही नहीं, पूरे देश की चाह है। जहां जाता हूं, सबसे पहले बस यही सवाल पूछा जाता है, लेकिन इसका मेरे पास कोई जवाब नहीं है। उम्मीद है कि जल्द ही मेजर ध्यानचंद को भारत रत्न सम्मान से नवाजा जाएगा।


करोड़ों से तैयार हो रहे हैं ग्राउंड
हॉकी के कम होते क्रेज को लेकर उन्होंने कहा कि मेजर ध्यानचंद के जमाने की ऑरिजनल हॉकी अब रही ही नहीं है। टर्फ हॉकी अब हर कोई अफोर्ड नहीं कर सकता है। करोड़ों से ग्राउंड तैयार होता है, ऐसे में अब ये गेम कॉमन लोगों के लिए रहा ही नहीं। हॉकी को किसी और न नहीं हमने ही खत्म किया है। पूरे राजस्थान में सिर्फ जयपुर, अजमेर और उदयपुर में टर्फ हॉकी ग्राउंड है और ये ग्राउंड भी बदहाली का शिकार है। यहां भी सलेक्टेड प्लेयर्स ही खेल सकते हैं। लोगों को ज्यादा से ज्यादा हॉकी से जोडऩा होगा। इसके लिए गवर्नमेंट को ज्यादा से ज्यादा टूर्नामेंट आयोजित कराने होंगे।


जयपुर में खेले हैं इंटरकॉलेज टूर्नामेंट
मेजर ध्यानचंद पर बायोपिक के सवाल पर उन्होंने कहा कि इस पर काम चल रहा है। मेरी तमन्ना है कि बाबा का रोल स्क्रीन पर नवाजुद्दीन सिद्दीकी प्ले करे। उन्होंने कहा कि बाबा के नाम का प्रेशर खेल के दौरान हमेशा रहा, लेकिन मैं ज्यादा सोचता नहीं था, बस अपने गेम पर फोकस करता था। जयपुर से जुड़ी यादें शेयर करते हुए उन्होंने बताया कि यहां इंटरकॉलेज टूर्नामेंट खेले हैं। वहीं कोटा से कॉलेज स्टडी के दौरान ही राजस्थान यूनिवर्सिटी से कम्बाइन यूनिवर्सिटी टीम में सलेक्शन हुआ इंडियन टीम में खेलते हुए देश को कई मेडल दिलाए।

00_1.jpg