स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ना युवा, ना आक्रोश, रैली विफल

Prakash Kumawat

Publish: Jan 28, 2020 20:50 PM | Updated: Jan 28, 2020 20:50 PM

Jaipur

राहुल गांधी की मंगलवार को जयपुर में हुई युवा आक्रोश रैली को भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां ने हास्य और नौटंकी बताते हुए विफल करार दिया है। उन्होंने दावा किया कि रैली में न युवा थे, ना आक्रोश। ताजुब यह है कि चुनाव दिल्ली में हो रहे हैं और रैली जयपुर में।

जयपुर
राहुल गांधी की मंगलवार को जयपुर में हुई युवा आक्रोश रैली को भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां ने हास्य और नौटंकी बताते हुए विफल करार दिया है। उन्होंने दावा किया कि रैली में न युवा थे, ना आक्रोश। ताजुब यह है कि चुनाव दिल्ली में हो रहे हैं और रैली जयपुर में।

पूनिया ने आरोप लगाया कि पुलिसवालों के दबाव से दुकानदारों और कर्मचारियों को रैली में लाया गया। सरकार के दबाव के चलते स्कूल एवं काॅलेजों के प्रिसिंपलों ने विद्यार्थियों को रैली में जाने का सर्कुलर जारी किया। उन्होंने बताया कि ज्ञानदीप काॅलेज, गौनेर व अजमेर के विद्यार्थियों ने इसके वीडियो बनाकर उनके पास भेजे हैं, जिनमे जबरन बस में बैठाकर ले जाया जा रहा है और कहा जा रहा है कि न्यूनतम 100 विद्यार्थी भेजने है, उन विद्यार्थियों को भी कहा गया यदि नहीं जाओगे तो प्रेक्टिकल में गड़बड़ होगी।
रैली का नाम तो युवा आक्रोश रैली था लेकिन उसमें फिल्मी गानों पर लोग नाच रहे थे।
पूनिया ने यह भी आरोप लगाया कि राहुल गांधी ने नागरिकता संशोधन विधेयक व एनआरसी पर जो कहा वो असत्य कहा। गांधी ने कहा कि जो युवा है, वह हिन्दुस्तान को भी बदल सकता है और देश को भी बदल सकता है। उन्हें यह भी पता नहीं कि एक दोनों एक ही है, अलग नहीं।
पूनिया कि आप रेप कैपिटल की बात करते हो और दूसरे-तीसरे नम्बर पर सर्वाधिक बलात्कार की घटनाए राजस्थान में ही घटित हुई हैं। यूपीए सरकार में 2004 से 2013 तक वल्र्ड की जीडीपी 4.10 प्रतिशत और देश की 6.81 प्रतिशत एवं एनडीए की सरकार में 2014 से 2019 तक वल्र्ड की 3.48 प्रतिशत और देश की 7.27 प्रतिशत है। कर्मचारी राज्य बीमा निगम के डाटा अनुसार केन्द्र सरकार में कुल मिलाकर नवम्बर 2019 के दौरान 14.33 लाख नई नौकरियां सृजित हुई है। प्रदेश में किसानों का कर्जा माफ नहीं हुआ और ना ही बेरोजगारों को बेरोजगारी भत्ता मिला। भारतीय जनता युवा मोर्चा ने कांग्रेस की युवा आक्रोश रैली के विरोध में सरकार की वादा खिलाफी के लिए 3,000 रूपए के डेमो चेक बांटे।


स्वास्थ्य बीमा योजना का एमओयू समाप्त, भटक रहे हैं मरीज

जयपुर
भारतीय जनता विधायक एवं पूर्व चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ ने प्रदेश में ‘भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना’ के तहत गरीबों का इलाज बंद होने पर चिंता प्रकट करते हुए कहा कि प्रतिदिन लगभग 10 हजार गरीब मरीज इधर से उधर मारे-मारे फिर रहे है। ‘भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना’ के अन्तर्गत उनका इलाज नहीं नहीं हो रहा है।
सराफ ने एक बयान में कहा कि भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना का जिस इंश्योरेंस कम्पनी से एमओयू था वो 13 दिसम्बर, 2019 को समाप्त हो गया। प्रदेश के निजी अस्पताल जो ‘‘भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना’’ के अन्तर्गत अधिकृत थे उनको इंश्योरेंस कम्पनी ने भुगतान करना बंद कर दिया। सरकार ने निजी अस्पतालों को विश्वास दिलाया था कि सरकारी स्तर पर उनकी बकाया राशि का भुगतान किया जाएगा परन्तु लगभग 100 करोड़ बकाया है उसका भुगतान सरकार ने नहीं किया, जिसके कारण निजी अस्पतालों ने इस योजना के अन्तर्गत गरीबों का होने वाला इलाज बंद कर दिया।
सराफ ने राज्य सरकार से मांग की कि जिन अस्पतालों का ‘भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना’ के अन्तर्गत भुगतान बकाया है उन्हें शीघ्र भुगतान किया जाए।

[MORE_ADVERTISE1]