स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मानसून : राजस्थान में अभी भी चार जिलों में बरसात की कमी

Sanjay Kaushik

Publish: Sep 23, 2019 03:23 AM | Updated: Sep 23, 2019 03:23 AM

Jaipur

राजस्थान(Rajasthan) में इस बार मानसून(Monsoon) के मेहरबान(Kind) रहने से अब तक औसत वर्षा सामान्य से 42.5 प्रतिशत अधिक हो चुकी है। हालांकि प्रदेश के चार जिलों(4 Districts) श्रीगंगानगर, अलवर, हनुमानगढ़ और करौली में अभी भी बरसात की कमी(Lack of Rain) बनी हुई है।

-ये हैं चार जिले : श्रीगंगानगर, अलवर, हनुमानगढ़ और करौली

-औसत वर्षा सामान्य से 42.5 प्रतिशत अधिक

-मानसून अभी भी सक्रिय...पूरे महीने बने रहने की संभावना

-कोटा-उदयपुर संभाग में भारी वर्षा की संभावना

जयपुर। राजस्थान(Rajasthan) में इस बार मानसून(Monsoon) के मेहरबान(Kind) रहने से अब तक औसत वर्षा सामान्य से 42.5 प्रतिशत अधिक हो चुकी है और आगामी चौबीस घंटों में कोटा एवं उदयपुर संभाग में कुछ स्थानों पर भारी वर्षा होने की संभावना है। हालांकि प्रदेश के चार जिलों(4 Districts) श्रीगंगानगर, अलवर, हनुमानगढ़ और करौली में अभी भी बरसात की कमी(Lack of Rain) बनी हुई है। मानसून अभी भी प्रदेश में सक्रिय है और इसके पूरे महीने बने रहने की संभावना है।

-भारी बारिश से ये जिले प्रभावित होने की संभावना

मौसम विभाग ने अगले चौबीस घंटों में कुछ स्थानों पर भारी वर्षा की चेतावनी दी है। इससे राज्य के डूंगरपुर, बांसवाड़ा, बारां, भीलवाड़ा, बूंदी, चित्तौडग़ढ़, झालावाड़, कोटा, प्रतापगढ़, राजसमंद, सवाईमाधोपुर, सिरोही, टोंक एवं उदयपुर जिले प्रभावित होने की संभावना है।

-22 सितंबर तक 738.73 मिलीमीटर बारिश

जल संसाधन विभाग से प्राप्त वर्षा के आंकड़ों के अनुसार राज्य में गत एक जून से 22 सितंबर तक 738.73 मिलीमीटर बारिश हो चुकी जो सामान्य वर्षा 518.37 मिलीमीटर के मुकाबले 42.5 प्रतिशत ज्यादा है। इसके बावजूद प्रदेश के श्रीगंगानगर, अलवर, हनुमानगढ़ और करौली जिले में बरसात की कमी है।

-हाल-ए-बारिश

सर्वाधिक कमी श्रीगंगानगर में सामान्य वर्षा से 39.3 प्रतिशत की कमी बनी हुई है जहां सामान्य वर्षा 198.10 मिलीमीटर की तुलना में अब तक 120.31 मिलीमीटर बारिश ही हुई है। अलवर में भी सामान्य वर्षा 541.40 मिलीमीटर के मुकाबले 36.26 मिलीमीटर बरसात हुई जो सामान्य से 33.3 प्रतिशत कम है।

-आठ जिलों में असामान्य बारिश...सर्वाधिक बूंदी में

राज्य में इस बार मानसून के खूब मेहरबान रहने से अब तक आठ जिलों अजमेर, बूंदी, चित्तौडग़ढ़, झालावाड़, कोटा, नागौर, प्रतापगढ़ एवं राजसमंद में असामान्य बरसात हो चुकी है। इनमें सर्वाधिक बरसात बूंदी जिले में हुई जहां सामान्य वर्षा 641.80 मिलीमीटर की जगह 1199.92 मिलीमीटर बारिश हो चुकी है जो सामान्य से 87 प्रतिशत ज्यादा है। हालांकि इस दौरान एक स्थान पर सर्वाधिक बारिश प्रतापगढ़ में 2804 मिलीमीटर दर्ज की गई।

-एक ही दिन में सर्वाधिक बारिश चित्तौडग़ढ़ के बेंगू में

इसी तरह अब तक एक दिन में सर्वाधिक बारिश गत सोलह अगस्त को चित्तौडग़ढ़ के बेंगू में हुई। इस दौरान राज्य के बारह जिले बांसवाड़ा, बारां, भीलवाड़ा, डूंगरपुर, जयपुर, झुंझुनूं, जोधपुर, पाली, सवाईमाधोपुर, सीकर, टोंक एवं उदयपुर में सामान्य से अधिक बरसात दर्ज की जा चुकी है।

-इन जिलों में सामान्य वर्षा

हालांकि प्रदेश के इन जिलों बाड़मेर, बीकानेर, चूरू, दौसा, धौलपुर, जैसलमेर, जालोर, सिरोही एवं भरतपुर में अभी सामान्य वर्षा रिकॉर्ड की गई है।

-सर्वाधिक बारिश कोटा संभाग में...सबसे कम बीकानेर संभाग में

प्रदेश के सात संभागों में कोटा संभाग में सर्वाधिक सामान्य से 71.7 प्रतिशत अधिक बरसात दर्ज की गई, जहां सामान्य वर्षा 745.33 की तुलना में 1279.66 मिलीमीटर बारिश हो चुकी, जबकि इस दौरान बीकानेर संभाग में सबसे कम बारिश दर्ज की गई जहां सामान्य वर्षा 242.75 मिलीमीटर की तुलना में केवल 215.74 मिलीमीटर बारिश हुई। उल्लेखनीय है कि गत वर्ष इस दौरान 497.41 मिलीमीटर हुई थी।