स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

75 दिन रहने के बाद कई खुशियां देकर लौटेगा ‘मानसून‘, अब शुरू हुई विदाई

Dinesh Saini

Publish: Sep 23, 2019 08:23 AM | Updated: Sep 23, 2019 08:25 AM

Jaipur

Monsoon 2019 in Jaipur: जयपुर से अब मानसून ( Monsoon 2019 in Jaipur ) के जाने का समय है। मौसम विभाग ( IMD ) की मानें तो ज्यादा से ज्यादा एक सप्ताह मानसून और मेहमान है। 75 दिन रहने के बाद जयपुर को यह भरपूर खुशियां दे जा रहा है...

जयपुर। जयपुर से अब मानसून ( Monsoon 2019 in Jaipur ) के जाने का समय है। मौसम विभाग ( IMD ) की मानें तो ज्यादा से ज्यादा एक सप्ताह मानसून और मेहमान है। 75 दिन रहने के बाद जयपुर को यह भरपूर खुशियां दे जा रहा है। जयपुर में 6 जुलाई को मानसून ने जयपुर में प्रवेश किया था। पहले ही दिन ढाई इंच बारिश हुई और लोगों को भीषण गर्मी से निजात मिली। सावन आते ही जयपुर पर ऐसी मेहरबानी की कि 6 साल में सबसे ज्यादा बारिश ( Rain ) हुई। इससे पानी की किल्लत दूर हुई, अरावली की पहाडिय़ों ने हरियाली की चादर ओढ़ ली, फसलें खिल उठीं। ग्रामीण इलाकों में बांधों में पानी आया। अब 23 सितंबर तक मानसून लौट जाएगा। पश्चिमी राजस्थान से मानसून की विदाई शुरू हो गई है। हालांकि पूर्वी राजस्थान के लिए मौसम विशेषज्ञों ने इसकी आधिकारिक घोषणा नहीं है।

रीता ही रह गया रामगढ़: जयपुर में 757 एमएम बारिश होने के बाद भी कालख, रामगढ़ ( Ramgarh Dam ) जैसे बड़े बांधों में पानी नहीं आ सका। रामगढ़ इस बार भी पानी का इंतजार करता ही रह गया।


ये 4 खुशियां मिलीं जयपुर को
3 साल के पानी का इंतजाम
मानसून से बीसलपुर लबालब हुआ। इतना पानी आया कि निकासी करनी पड़ी। बीसलपुर बांध भरने से जयपुर के लिए तीन साल के लिए पानी का इंतजाम हो गया है। बांध में पानी की भराव क्षमता 1095.840 एमक्यूएस है।

मावठे में आ रहा बीसलपुर का पानी
मावठे में बीसलपुर से हर दिन 15 लाख लीटर पानी की आपूर्ति हो रही है। मावठा 80 से 85 दिन में लबालब हो जाएगा। इसकी भराव क्षमता 1250 लाख लीटर है। यहां 15 सितंबर से पानी की आपूर्ति शुरू की गई है।

चंदलाई, शिवडूंगरी लबालब हो गए
सावन में बांध लबालब हो गए। जयपुर जिले में 8 बांध हैं। इनमें से 4 में 100 प्रतिशत तक पानी आया है। इनमें चाकसू तहसील के चंदलाई, शिवडूंगरी, शीलकी डूंगरी, खेजड़ी बांध शामिल हैं। मानसागर में 71 फीसदी पानी आया है।

कटौती खत्म, आने लगा पूरा पानी
मानसून में देर के कारण जयपुर में पानी का संकट गहरा गया था। बीसलपुर बांध से जयपुर की पेयजल सप्लाइ में कटौती कर दी गई। 30 फीसदी कटौती से बढ़ी परेशानी मानसून आने के बाद कम हुई। अब निर्बाध सप्लाई हो रही है।