स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

दुष्कर्म मामले पर बोले मास्टर भंवरलाल, कहा: हाथ और ......... काटने जैसे बनें कठोर कानून, देखें वीडियो

Pushpendra Singh Shekhawat

Publish: Dec 05, 2019 19:07 PM | Updated: Dec 05, 2019 19:07 PM

Jaipur

दुष्कर्म की घटनाओं पर सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री भंवरलाल मेघवाल ने जताया गुस्सा, कहा दुष्कर्म जघन्य अपराध, सरेआम मिले फांसी

जयपुर. देश मे बढ़ती दुष्कर्म की घटनाओं पर सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री भंवरलाल मेघवाल ( Bhanwar Lal Meghwal ) ने गुस्सा जाहिर किया। उन्होंने कहा कि यह जघन्य अपराध है और अपराधी को सरेआम फांसी होनी चाहिए। यह बात मेघवाल ने गुरुवार को पार्टी के प्रदेश कार्यालय ( PCC ) पर जनसुनवाई ( Public Hearing ) में कही। उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाओं का निस्तारण तीन महीने में होना चाहिए। कम से कम फांसी की सजा तो होनी ही चाहिए। कोर्ट के अंदर केस जाने की स्थिति में सरेआम फांसी होनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि अन्य देशों से तुलना करते हुए उन्होंने अपराधी के अंगभंग करने तक की बात कह दी। विदेशों में बलात्कारियों से सख्ती से निपटा जाता है। विदेशों में हाथ के बदले हाथ, बलात्कारी का जननांग काटने, सरेआम फांसी देने का प्रावधान है। उन्होंने कहा कि हमारे यहां भी ऐसे मामलों से निपटारे के लिए ऐसी ही कठोर सजा का प्रावधान हो।


उन्होंने कहा कि पहले टीवी नहीं थी और मोबाइल नहीं होते थे। उस समय इतनी घटनाएं भी नहीं होती थीं। अब टीवी देख देखकर इस प्रकार के कार्यों को कर सीख रहे हैं। ऐसे मामलों में पुलिस को सभी संवेदनशील होकर तत्परता के साथ काम करना चाहिए।

जनसुनवाई में राज्यभर से 75 से अधिक लोग पहुंचे। समस्याओं के निस्तारण के लिए संबंधित विभाग के अधिकारियों को दिशा निर्देश दे दिए गए।

[MORE_ADVERTISE1]