स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

राजधानी में नशे के खिलाफ छिड़ी जंग में उठ खड़े हुए कई हाथ

Dinesh Kumar Gautam

Publish: Nov 19, 2019 23:50 PM | Updated: Nov 19, 2019 23:50 PM

Jaipur

कई इलाकों में पहुंचकर नशे का कारोबार करने वालों की धरपकड़ में ही नहीं जुटी, बल्कि लोगों को इसके दुष्परिणामों के बारे में बताकर जागरूक भी कर रही है

जयपुर jaipur latest news में चल रहे आपरेशन क्लीन स्वीप optarion clean sweapके बाद जैसे पुलिस नींद से जाग गई। कई इलाकों में पहुंचकर नशे का कारोबार करने वालों की धरपकड़ में ही नहीं जुटी, बल्कि लोगों को इसके दुष्परिणामों के बारे में बताकर जागरूक भी कर रही है। कभी नशे की जकड़ में होने के कारण पंजाब पर एक फिल्म बनी थी उड़ता पंजाब, इसके बाद सरकार ने व्यापक स्तर पर नशे के खिलाफ मुहिम छेड़ी। इस आंदोलन में पड़ोसी देशों की ओर से हमारी युवा पीढ़ी को नशे की जद में झोंकने के लिए चलाए जा रहे इस कुचक्र को तोड़ने के लिए बीएसएफ और सेना भी एकजुट हुई। पंजाब सरकार की राजनीतिक इच्छाशक्ति के चलते अब पंजाब में हालात सुधरने लगे हैं...ऐसी ही एक मुहिम राजस्थान में भी छेडी गई है और राजधानी जयपुर में विशेष तौर पर पुलिस ने आपरेशन क्लीनस्वीप के नाम से नशे के सौदागरों के खिलाफ अभियान चलाया है...पुलिस के निशाने पर शराब के अवैध कारोबारी तो हैं ही साथ में पुलिस ने स्मैक,अफीम और गांजे सहित अन्य खतरनाक मादक पदार्थों का कारोबार करने वालों को भी निशाने पर ले रखा है....अभियान के तहत पुलिस ने अब तक बडी मात्रा में स्मैक,गांजा और डोडा पोस्त बरामद करने के साथ ही इनका अवैध कारोबार करने वालों केा भी पकडा है...आपरेशन क्लीव स्वीप के तहत जयपुर पुलिस ने अब तक 86 से ज्यादा मामलों में करीब 100 नशे के सौदागरों को गिरफृतार किया है...जयपुर पुलिस के साथ ही इस अभियान में जयुपर ट्रैफिक पुलिस भी रात को विशेष तौर पर नाकाबंदी लगाकर शराब पीकर वाहन चलाने वालों पर शिकंजा कस रही है...इससे प्रतिदिन जयपुर में करीब दो से ढाई सौ शराब पीकर वाहन चालकों के चालान किए जा रहे हैं...लेकिन जयपुर पुलिस का मुख्य जोर नशे के तस्करों के खिलाफ है और पुलिस का पूरा जोर नशे के तस्करों के अन्तर्राज्यीय नैटवर्क को तोडना और नैटवर्क के सरगनाओं तक पहुंचना है...हालांकि अभी तक पुलिस किसी बडे सरगना को नहीं पकड पाई है लेकिन यह भी तय है कि नैटवर्क में काम करने वालों को पकडकर पुलिस ने नशे के सौदागरों में एक दहशत पैदा कर दी है...

[MORE_ADVERTISE1]