स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अब कारें कितनी भी बीमा होगा एक, बीमा नियामक ने दी हरी झंडी

Narendra Solanki

Publish: Jan 22, 2020 21:15 PM | Updated: Jan 22, 2020 21:15 PM

Jaipur

बीमा नियामक प्राधिकरण ( Insurance Regulatory Authority ) यानि इरडा ने ऐसी वाहन बीमा पॉलिसी ( vehicle insurance policy ) लाने की मंजूरी दे दी है, जिसके जरिए एक से अधिक कारों के स्वामी सिंगल पॉलिसी ( single policy ) ले सकेंगे। हालांकि इसके लिए सभी गाडिय़ों का मालिक एक ही व्यक्ति होना चाहिए। इससे वाहन स्वामी अपनी गाडिय़ों के उपयोग के अनुसार प्रीमियम भी तय कर सकेंगे। नए नियमों के अनुसार अब सिंगल बीमा पॉलिसी में सभी गाडिय़ों के बीमा की सब लिमिट भी तय होगी। यह पॉलिसी एक फरवरी को पूरे देश में लॉन्च होग

सबसे पहले इरडा ने निजी क्षेत्र की गैर जीवन बीमा कंपनी आईसीआईसीआई लोम्बार्ड को ऐसी पॉलिसी लाने की मंजूरी दी है। कंपनी एक फ्लोटर पॉलिसी लेकर के आएगी। इस पॉलिसी के तहत ग्राहकों को अपने सम इंश्योर्ड को बढ़ा सकते हैं। ग्राहक एक बार में एक ही गाड़ी चलाएंगे। इसके अनुसार ग्राहक जो गाड़ी सबसे ज्यादा चलाता है, उसकी बीमित राशि ज्यादा होगी।
यह पॉलिसी एप बेस्ड होगी, जिसमें ग्राहक अपनी सभी गाडिय़ों को एक साथ लिंक कर सकेगा। फिलहाल इस तरह की पॉलिसी स्वास्थ्य बीमा के क्षेत्र में चल रही हैं। इससे तीन से चार गाडिय़ां एक ही फ्लोटर पॉलिसी में कवर हो सकेंगी। फिलहाल यह सुविधा छह महीनों के लिए पायलट प्रोजेक्ट के आधार पर शुरू होगी। सफल होने पर इसको आगे बढ़ाया जा सकता है। आईसीआईसीआई लोम्बार्ड के अलावा बजाज एलांयज भी जल्द ऐसी पॉलिसी को अपने यहां पर लॉन्च करेगा।
निजी कारों के लिए पे-एस-यू-यूज और पे-हाउ-यू-यूज पॉलिसियों में बीमित व्यक्तिको अपनी गाड़ी से तय की गई कुल दुरी या अपने ड्राइविंग बेहेवियर के आधार पर प्रीमियम का भुगतान करने का विकल्प मिलता है। मोटर फ्लोटर नीति के तहत अब ग्राहकों को अपने हर वाहन के लिए एक ही बीमा पॉलिसी लेने का विकल्प भी मिलेगा, जिसमें प्रत्येक वाहन के लिए अलग-अलग उप-सीमाएं निर्धारित की जाएंगी।
इस बीमा पॉलिसी से आईआरडीएआई के रेगुलेटरी सैंडबॉक्स प्रोजेक्ट ने बीमा उद्योग को नए उत्पादों और सेवाओं को शुरू करने के लिए लचीलापन प्रदान किया है, जो आज की तकनीक और डाटा की दुनिया के अनुकूल हैं। यह कार्यप्रणाली बीमाकर्ताओं को छह महीने की अवधि के लिए चुनिंदा लोगों के समूह के साथ एक उत्पाद लॉन्च करने और परीक्षण करने की अनुमति देती है। इस पायलट प्रोजेक्ट के परिणामों और ग्राहकों की प्रतिक्रिया के आधार पर इसे आम जनता के लिए व्यावसायिक रूप से लॉन्च किया जाएगा।
इस पायलट प्रोजेक्ट के दौरान बीमाकर्ता अपने ग्राहकों से महत्वपूर्ण प्रतिक्रिया प्राप्त कर पाएंगे। इस प्रकार की सुविधा कंपनी को अपने ग्राहकों के लिए बेहतर जोखिम समाधान प्रदान करने का अपना वादा निभाने में सक्षम बनाएगी।

[MORE_ADVERTISE1]