स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पौष मास में हल्की बारिश से साफ हुई जयपुर की आबोहवा

Pushpendra Singh Shekhawat

Publish: Dec 14, 2019 21:57 PM | Updated: Dec 14, 2019 21:57 PM

Jaipur

तेज ठंड के लिए खास माने जाने वाले पौष मास में राजधानी में हुई हल्की बारिश ने आबोहवा एकदम साफ कर दी है। इस बारिश से न सिर्फ शहर का वायु गुणवत्ता सूचकांक का स्तर सुधरा है बल्कि वायु प्रदूषण के स्तर में भी कमी आई

हर्षित जैन / जयपुर। तेज ठंड के लिए खास माने जाने वाले पौष मास में राजधानी में हुई हल्की बारिश ने आबोहवा एकदम साफ कर दी है। इस बारिश से न सिर्फ शहर का वायु गुणवत्ता सूचकांक का स्तर सुधरा है बल्कि वायु प्रदूषण के स्तर में भी कमी आई है। ठंडी हवाओं की वजह से बीते सात दिनों से शहर में तापमान में तो गिरावट हुई, वहीं शहर की हवा भी स्वच्छ हुई है। शनिवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक अधिकतम 90 के आसपास दर्ज किया गया।

बीते सात दिनों में वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआइ) 400 के मुकाबले यह 70 प्रतिशत तक कम रिकॉर्ड हुआ। विशेषज्ञों की मानें तो पहाड़ों से आ रही ठंडी हवाओं और बारिश से शहर के प्रदूषण में कमी आई है, जिस कारण से एसपीएम का स्तर नीचे आ जाता है और हवा साफ हो जाती है।


शहर में सिविल लाइन, सेठी कॉलोनी, शास्त्री नगर में प्रदूषण खतरनाक प्लस की स्थिति में था। सभी जगहों पर एयर इंडेक्स 300 से अधिक दर्ज किया गया था। दूसरी ओर पीएम (पर्टिकुलर मैटर) का स्तर 2.5 ठंडी हवाओं के कारण थोड़ा अच्छा माना जा रहा है। मौसम विभाग के आंकड़ों की बात की जाए तो जनवरी तक प्रदूषण का स्तर कम रहने की उम्मीद है, इसके साथ ही हल्की बारिश और ठंडी हवाओं का दौर भी देखने को मिलेगा। अस्थमा भवन के निदेशक डॉ.वीरेन्द्र सिंह का कहना है कि श्वास संबंधी रोगों से पीडि़त लोग घर से बाहर बिल्कुल न जाएं, खासतौर पर भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचे। गरम कपड़े पहनने का विशेष ध्यान रखें।

ऐसे समझें आंकड़ों को
सूचकांक नतीजे 0-100 अच्छा यानि कोई दिक्कत नहीं है
101-200 मोडरेट बाहर जाने से बचें
201-300 श्वसन संबंधी बीमारियों के मरीजों को तकलीफ
301-400 लंबे समय से बीमार रोगियों को दिक्कत
401-500 बाहर बिल्कुल न जाएं

यह भी पढ़ें : उत्तरी भारत में बर्फबारी से राजस्थान के न्यूतम तापमान में गिरावट, माउंट आबू पहुंचा 2.2 डिग्री

[MORE_ADVERTISE1]