स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जयपुर नगर निगम और व्यापारियों में आपसी तकरार, दोपहिया वाहनों पार्किंग शुल्क पर बढ़ा विवाद

Deepshikha

Publish: Dec 05, 2019 17:26 PM | Updated: Dec 05, 2019 17:26 PM

Jaipur

जयपुर परकोटा में दोपहिया वाहनों पार्किंग शुल्क पर विवाद, व्यापारियों ने शुल्क न देने के लगाए बोर्ड, निगम वाले उतार ले गए

अश्विनी भदौरिया / जयपुर. परकोटा में दोपहिया वाहनों पार्किंग शुल्क वसूले जाने को लेकर विवाद बढ़ता ही रहा है। दो दिन पहले व्यापारियों ने दो पहिया वाहनों पर पार्किंग शुल्क न देने के जगह-जगह बोर्ड लगा दिए थे, लेकिन गुरुवार को दोपहर बाद निगम की टीम ने आकर ये बोर्ड हटा दिए। व्यापारियों ने निगम की कार्रवाई पर ऐतराज जताया।

चौड़ा रास्ता व्यापार मंडल के महासचिव विवेक भारद्वाज का कहना है कि नगर निगम के अधिकारी ठेकेदार का सहयोग कर रहे हैं। व्यापारियों की सुनवाई जोन कार्यालय से लेकर मुख्यालय तक में नहीं हो रही। इस बार से ही नगर निगम ने चौड़ा रास्ता में दोपहिया वाहन चालकों से शुल्क वसूलना शुरू किया है। हवामहल जोन कार्यालय के अधिकारियेां का कहना है कि होर्डिंग अवैध रूप से लगाए गए थे, इसलिए हमने उनको उतार लिया। कार्रवाई के दौरान आधा दर्जन से अधिक होर्डिंग निगम की टीम ने उतारे।

अब तक कुछ भी नहीं बदला

28 नवम्बर को राजस्थान पत्रिका ने 'जिम्मेदारों की नाक के नीचे अवैध वसूली' शीर्षक से खबर प्रकाशित की थी। इसके बाद नगर निगम आयुक्त ने व्यवस्थाओं को सही करने के लिए जोन उपायुक्त को निर्देशित किया था, लेकिन एक सप्ताह बाद कुछ भी नहीं बदला है। जोन उपायुक्त हाथ पर हाथ रखे बैठे हैं। हवामहल पश्चिम जोन उपायुक्त सुरेंद्र सिंह यादव का कहना है कि शर्तों की पालना कराने के संबंध में मुख्यालय आया हूं। शर्तों के मुताबिक ही काम करने दिया जाएगा। अभी भी जौहरी बाजार और चौड़ा रास्ता में पार्किंग शुल्क के नाम पर अवैध वूसली की जा रही है। आतिश मार्केट में बिना पर्ची के वाहन खड़े किए जा रहे हैं।

[MORE_ADVERTISE1]