स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जयपुर में परेशान व्यापारियों ने दी चेतावनी, कहा: मनमानी में नहीं लगाई लगाम तो बंद कर देंगे दुकानें

Pushpendra Singh Shekhawat

Publish: Nov 18, 2019 22:14 PM | Updated: Nov 18, 2019 22:14 PM

Jaipur

नगर निगम ने दी अवैध वसूली की खुली छूट : परेशान व्यापारी पहुंचे निगम, कहा-ऐसे ही मनमानी चली तो बंद कर देंगे दुकानें

जयपुर. पार्किंग शुल्क को लेकर मनमानी और नगर निगम अधिकारियों के टरकाऊ रवैये से व्यापारी परेशान हैं। सोमवार को व्यापारियों के एक प्रतिनिधिमंडल ने नगर निगम के अतिरिक्त आयुक्त अरुण कुमार गर्ग को समस्या बताई। व्यापारियों का कहना था कि जिस तरह से नगर निगम पार्किंग शुल्क बढ़ाकर कमाई कर रहा है, उससे व्यापार प्रभावित हो रहा है। दोपहिया वाहन चालकों से भी पैसा वसूल किया जा रहा है। पिछले साल जौहरी बाजार से दोपहिया वाहनों से पैसा लेना शुरू किया और अब चौड़ा रास्ता में भी शुरू कर दिया। सोमवार को सुबह व्यापारियों और ठेकेदार में पैसे लेेने को लेकर विवाद तक हो गया। वहीं नगर निगम के अधिकारियों का कहना है कि अभी दोपहिया वाहन चालकों से कोई शुल्क वसूल नहीं किया जा रहा है। भविष्य में तीन से चार जगहों से शुल्क लेना प्रस्तावित है।


गौरतलब है कि राजस्थान पत्रिका ने परकोटा में पार्किंग की अव्यवस्था को लेकर शीर्षक 'पार्किंग के नाम पर मनमानी' प्रकाशित की थी। इसमें बताया था कि कैसे शर्तों का मजाक बनाया जा रहा है और निगम के अधिकारी चुप बैठे हैं।

व्यवस्था में सुधार की जरूरत

जयपुर व्यापार महासंघ के अध्यक्ष सुभाष गोयल ने कहा कि पार्किंग की व्यवस्था बहुत खराब है। सराफा ट्रेडर्स कमेटी के अध्यक्ष कैलाश मित्तल ने कहा कि ठेकेदार मनमानी पर उतारू हैं। दिन भर वाहन खड़े रहते हैं। वहीं चौड़ा रास्ता व्यापार मंडल के महासचिव विवेक भारद्वाज ने कहा कि यदि ऐसे ही मनमानी चली तो चौड़ा रास्ता के व्यापारी प्रतिष्ठान बंद कर सड़कों पर उतर विरोध करेंगे।

गाड़ी खड़ा करो भगवान भरोसे
आतिश मार्केट में वाहनों की पार्किंग में मनमानी हो रही है। यहां स्थिति इतनी खराब है कि वाहन खड़ा करने का टोकन तक नहीं दिया जाता। ऐसे में यहां गाड़ी की सुरक्षा भगवान भरोसे है। वहीं, तीन दिन पहले जौहरी बाजार में सड़क पर वाहन खड़े करने को लेकर यातायात पुलिस ने सवाल खड़े किए थे।

पार्किंग नियमों के मुताबिक ही करवाई जाएगी। जो शर्तों में है, यदि ठेकेदार वैसा नहीं कर रहा है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। जल्द ही संबंधित अधिकारी दौरा कर व्यवस्थाओं को देखेंगे। व्यापारियों को सहूलियत देने का प्रयास रहेगा।
-अरुण कुमार गर्ग, अतिरिक्त आयुक्त

[MORE_ADVERTISE1]