स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

एसएमएस अस्पताल के मुर्दाघर में चोरी, शव के गायब हुआ ....., परिजनों ने किया हंगामा

Pushpendra Singh Shekhawat

Publish: Dec 05, 2019 21:12 PM | Updated: Dec 05, 2019 21:12 PM

Jaipur

एसएमएस अस्पताल का मामला : पुलिस ने वार्ड में चिकित्सक से लेकर मुर्दाघर में शव रखने आए वार्ड बॉय तक करी पूछताछ, लेकिन नहीं मिला सामान

मुकेश शर्मा / जयपुर। सवाईमानसिंह अस्पताल ( SMS Hospital ) के मुर्दाघर में गुरुवार सुबह पोस्टमार्टम के लिए कमरे शव बाहर लाने के लिए कमरे का जैसे ही गेट खोला गया, शव देखते ही परिजन हंगामा करने लगे। व्यक्ति के शव के कानों से उसकी पहनी हुई सोने की मुर्कियां गायब थी।

परिजन आरोप लगाने लगे अस्पताल में भर्ती होने और शव मुर्दाघर भिजवाया, तब तक मृतक के कानों में सोने की मुर्कियां थी, लेकिन अब नहीं है। मामला एसएमएस अस्पताल पुलिस चौकी पर पहुंचा। पुलिस ने पड़ताल की तो सामने आया कि मृतक को पेड़ से गिरने पर एसएमएस अस्पताल में भर्ती कराया थ। यहां पर गुरुवार तड़के उसकी मौत हो गई। शव को वार्ड बॉय के जरिए मुर्दाघर में पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया गया।

पुलिस ने एसएमएस अस्पताल के ट्रोमा सेंटर के वार्ड से मुर्दाघर शव रखने आए ठेकाकर्मी को पकड़ पूछताछ की गई। वार्ड में भी इलाज करने वाले चिकित्सकों से सोने की मुर्की के संबंध में जानकारी ली गई। लेकिन मुर्कियों के संबंध में कोई जानकारी नहीं मिली। हालांकि ट्रोमा सेंटर अशोक नगर थाना क्षेत्र सीमा में होने पर अस्पताल पुलिस चौकी से मामला वहां बताया गया।

अशोक नगर थाना के एएसआई विजेन्द्र सिंह ने बताया कि एसएमएस अस्पताल पुलिस चौकी पहुंचे, उससे पहले ही परिजन बिना शिकायत देकर चले गए। ठेकाकर्मी से चौकी पर हर तरीके से पूछताछ की गई, लेकिन उसने चोरी करना इनकार किया। शव मुर्दाघर में रखने से पहले चिकित्सक परिजनों से शव के साथ कोई सामान नहीं होने वाली पर्ची पर हस्ताक्षर करवाते हैं। उक्त पर्ची पर भी परिजनों ने हस्ताक्षर किए थे। सोने की मुर्की घटना स्थल से एसएमएस अस्पताल लाने के दौरान निकालने की संभावना से इनकार नहींं किया जा सकता है। उधर, पुलिस चौकी पर ही परिवार की एक महिला ने मुर्दाघर में शव रखवाने के लिए लाते समय कानों में मुर्की होना बताया था।

[MORE_ADVERTISE1]