स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Jaipur bomb blast court verdict: जयपुर को मिला ​इंसाफ, चारों गुनहगारों को मिली सजा-ए-मौत

Deepshikha

Publish: Dec 20, 2019 16:19 PM | Updated: Dec 20, 2019 16:19 PM

Jaipur

Jaipur bomb court verdict Live : जयपुर में 13 मई 2008 को हुए सिलसिलेवार बम विस्फोट के मामले पर शुक्रवार को अदालत ने अपना फैसला सुना दिया

जयपुर. जयपुर में 13 मई 2008 को हुए सिलसिलेवार बम विस्फोट के मामले पर शुक्रवार को अदालत ने अपना फैसला सुना दिया। विशेष न्यायालय न्यायधीश अजय कुमार शर्मा ने जयपुर बम विस्फोट में सुफुरहमान, सरवर आजमी, सलमान और सैफ को फांसी की सजा सुना दी है।विशेष न्यायालय के इस फैसले से जयपुर को लोगों में हर्ष की लहर दौड़ गई। फैसला आने के बाद लोग जगह-जगह एक दूसरे को मुबारकबाद देते नजर आए। वहीं कई लोगों ने फैसला आने पर मिठाइयां वितरित की।

इस आतंकी घटना में 71 लोगों की मौत हुई थी, 185 लोग घायल हुए थे। मामले में लखनऊ और दिल्ली से कुल 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था। घटना के 11 साल 7 महीने और 7 दिन बाद अब मामले पर विशेष न्यायालय सुनाया है। इस बीच पांच न्यायाधीशों ने सुनवाई की और चार विशेष लोक अभियोजकों ने जयपुर का पक्ष रखा। न्यायालय में कुल 1293 गवाह पेश किए गए।

इन्हें सुनाई सजा

न्यायालय ने जयपुर बम विस्फोट के मुख्य आरोपी सुफुरहमान, सलमान, सैफ और सरवर आजमी को फांसी की सजा सुनाई है। गौरतलब है कि पांचवें आरोपित मोहम्मद शहबाज हुसैन को अदालत ने संदेह का लाभ देते हुए सभी आरोपों से बरी कर दिया था। ये पांचों आरोपी जयपुर के केंद्रीय कारागार में बंद हैं।

कड़ी सुरक्षा के इंतजाम

जयपुर बम ब्लास्ट पर फैसले को देखते हुए कोर्ट परिसर सहित पूरे शहर में सुरक्षा के खास इंतजाम किए गए। कोर्ट के बाहर भारी पुलिस जाब्ता नजर आया। कोर्ट में पुलिस सुरक्षा इतनी कड़ी थी कि कोई परिंदा भी पर नहीं सके। सुरक्षा के लिए कई पुलिस टुकडियां मुस्तैद रही।

Read More: jaipur Bomb Blast आंखों देखी: सूचना मिली एक जिंदा बम अभी साइकिल के टंगा है, तो सांसे अटक गई थी

Jaipur Bomb Blast का फैसला देने वाले जस्टिस ने अवकाश के दिनों में भी किया काम, आज सुनाएंगे अपना आखिरी फैसला!

Jaipur Bomb Blast : उस दिन गदर मच गया था, तत्कालीन जयपुर आइजी पीके सिंह ने बताया पूरा घटनाक्रम

[MORE_ADVERTISE1]