स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सुलगे इंडोनेशिया के जंगल, सिंगापुर मलेशिया की फूली सांसें

Rakhi Hajela

Publish: Sep 22, 2019 18:39 PM | Updated: Sep 22, 2019 18:39 PM

Jaipur

इंडोनेशिया के जंगलों में आग , सिंगापुर मलेशिया की सांस फूली
मलेशिया सरकार ने 50 लाख मास्क बांटे
सिंगापुर की हवा में घुला जहरीला स्मॉग
जंगल की आग से फैल रहा धुआं
बना वायु प्रदूषण का बड़ा कारण

इंडोनेशिया (indonesia ) के जंगलों ( Forests ) में भयानक आग ( Fire ) लगी है, यह आग इतनी फैल गई है कि इसके धुएं (Smoke ) का असर पड़ोसी देश सिंगापुर (Singapur ) तक पंहुच गया है जो इंडोनेशिया से ११५० किलोमीटर की दूरी पर है। वहीं, 1440 किलोमीटर दूर मलेशिया सरकार ने अपने लोगों को इस धुएं की वजह से बने स्मॉग से बचाने के लिए 50 लाख मास्क बांटे हैं।

10 हजार अग्निशमन कर्मी और कर्मचारी लगाए गए
पिछले कुछ हफ्तों में इंडोनेशिया के सुमात्रा और कालिमंतन के जंगलों में 1276 जगहों पर भयावह आग लगी है। इसकी वजह से 9.30 लाख हेक्टेयर का जंगली इलाका जल चुका है। हजारों स्थानीय लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। वहीं, आग को बुझाने और नियंत्रण में करने के लिए करीब 10 हजार अग्निशमन कर्मी और कर्मचारी लगाए गए हैं। एशियन स्पेश्लाइज्ड मेट्रोलॉजिकल सेंटर के अनुसार इंडोनेशिया के सुमात्रा और कालिमंतन के जंगलों में लगी आग की वजह से आग का असर पड़ोसी देश तक पहुंच रहा है, सिंगापुर और मलेशिया में हवा काफी दूषित हो गई है। मलेशिया, सिंगापुर और ब्रुनेई में वायु प्रदूषण का स्तर तेजी से बढ़ रहा है। इंडोनेशिया और मलेशिया तथा सिंगापुर में धुंध फैलने के कारण हजारों लोगों को सांस लेने संबंधी समस्याएं हो रही हैं और स्कूल बंद होने से वहां पर्यावरणीय संकट पैदा हो गया है। आज सुबह सिंगापुर में प्रदूषण मानक सूचकांक पीएसआई 103 से 118 के बीच पहुंच गया। राष्ट्रीय पर्यावरण एजेंसी के अनुसार, यह स्तर अस्वास्थ्यकारी श्रेणी में आता है और एजेंसी ने लोगों को बाहर ज्यादा शारीरिक श्रम करने से बचने की सलाह दी है। आपको बता दें कि प्रदूषण स्तर में अचानक परिवर्तन वायु की दिशा और इंडोनेशिया के जंगलों में आग लगने से धुंध भरे बादल पर निर्भर करता है। इंडोनेशिया के जंगलों में इसी महीने आग लगने से सुमात्रा और बोर्नियो द्वीपों पर 3 लाख 28 हजार 700 हेक्टेयर जमीन बरबाद हो गई। अपने देश में बढ़ते हुए प्रदूषण को देखते हुए मलेशिया ने इंडोनेशिया सरकार से कहा है कि आग बुझाने का तेजी से प्रयास करें, ताकि आग और न फैले। पिछले पूरे हफ्ते पड़ोसी देश सिंगापुर और मलेशिया के आसमान में गहरा स्मॉग था। इसकी वजह से वहां की हवा की गुणवत्ता खराब हो गई है।

मलेशिया में सरकार ने बांटे 50 लाख मास्क
409 स्कूल किए गए बंद
मलेशिया की सरकार ने सारावाक राज्य में 50 लाख फेस मास्क बांटे, क्योंकि यहां जंगलों की आग से फैले धुएं की वजह से वायु प्रदूषण उच्चतम स्तर तक पहुंच गया है। इस राज्य में 409 स्कूलों को बंद कर दिया गया है। हवा में वायु प्रदूषण का स्तर यानी एयर पॉल्युशन इंडेक्स को पार्टिकुलेट मैटर पीएम 2.5 प्रति क्यूबिक मीटर से मापते हैं, लेकिन, पिछले 24 घंटों में मलेशिया के 16 राज्यों में से 11 राज्यों में एपीआई 101-200 की रेंज में था, यानी बेहद खतरनाक हवा रोमपिन राज्य के पहांग जिले में एपीआई सबसे ज्यादा 232 था, वहीं, सिंगापुर में एपीआई 151 था।
इंडोनेशिया में इस वक्त एपीआई 1000 के रेंज को पार कर गया है। वहां, दृश्यता 100 मीटर तक घट गई है। इंडोनेशिया सरकार ने कहा है कि इस आग के लिए जो भी जिम्मेदार होंगे, उन सब पर 10 बिलियन इंडोनेशियाई रुपया यानी 4.99 करोड़ भारतीय रुपए का जुर्माना भरना पड़ेगा। इसके साथ ही उसे 10 साल जेल में रहना होगा।