स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बजरी का अवैध परिवहन पुलिस के लिए बना 'कौन बनेगा करोड़पति' का शो, राजधानी की दो थाना पुलिस भिड़ी

Dinesh Kumar Gautam

Publish: Jan 02, 2020 00:13 AM | Updated: Jan 02, 2020 00:13 AM

Jaipur

जिस इलाके से बजरी के ट्रक गुजरते है। उस थाने को मिलती है मोटी रकम। लेकिन अवैध वसूली को लेकर राजधानी में ऐक ऐसा मामला सामने आया है जिसे लेकर जयपुर कमिश्नरेट की किरकिरी हो रही है

राजधानी में भी बजरी का परिवहन पुलिस के लिए कौन बनेगा करोड़पति का शो साबित हो रहा है। जिस इलाके से बजरी के ट्रक गुजरते है। उस थाने को मिलती है मोटी रकम। लेकिन अवैध वसूली को लेकर राजधानी में ऐक ऐसा मामला सामने आया है जिसे लेकर जयपुर कमिश्नरेट की किरकिरी हो रही है। दरअसल गांधीनगर इलाके में आए एक बजरी के ट्रक की सूचना दलालों ने ज्योतिनगर थाना पुलिस की चेतक को दी। पुलिस आई और बजरी ट्रक चालक से वसूली कर चलती बनी। इसकी भनक गांधीनगर थाना पुलिस को मिली तो इलाके से दूसरे थाने की वसूली नागवार गुजरी। इसको लेकर गांधीनगर थाना पुलिस ट्रक चालक को थाने लाई और ज्योतिनगर थाना पुलिस के चेतक में तैनात पुलिसकर्मियों के खिलाफ लिखित में शिकायत ले ली। इसके बाद ट्रक चालक से गांधीनगर थाना पुलिस ने 'अपना हिस्सा' लिया और चलता कर दिया। इसकी भनक आला अधिकारियों को लग गई। कहीं मामला मीडिया में न आ जाए और पूरे सिस्टम की किरकिरी न हो जाए, इसलिए ज्योतिनगर थाने की चेतक में मौजूद रमेश और ओमवीर को लाइन हाजिर कर दिया गया। फिलहाल इस मामले में कोई भी अधिकारी मुंह नहीं खोल रहा है कि दोनों को लाइन हाजिर क्यों किया गया है। जबकि धीरे—धीरे ये बात राजधानी के ईस्ट और साउथ जिलों के थानों में चटखारे लेकर पहुंच रही है। दूसरी तरफ सभी थाने वैसे तो अपने इलाके में बजरी के ट्रकों को घुसने से इनकार करने का नाटक करते हैं, लेकिन कुछ ले देकर वो बजरी के ट्रकों को 'पास' भी करवा रहे हैं। देखना होगा कि इस मामले में और कितने खाकी लपेटे में आते है या फिर मामले को दबा दिया जाएगा।

[MORE_ADVERTISE1]