स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

राजस्थान के कई जिलों में जमकर बरसे मेघ, नदी-नाले उफान पर, घरों में जा भरा पानी

anandi lal

Publish: Aug 14, 2019 18:04 PM | Updated: Aug 14, 2019 18:11 PM

Jaipur

राजस्थान के कई जिलों में जमकर बरसे मेघ, घरों के अंदर तक जा भरा बरसाती पानी

जयपुर। राजस्थान के कई जिलों में मेघ मेहरबान हो रहे हैं। प्रदेश में भारी बारिश ( Heavy Rain In Rajasthan ) के चलते नदी-नाले उफान पर हैं। कई घरों में पानी तक भर गया है। बरसाती पानी से सड़कें दरिया बन गई। नीचले इलाकों में पानी भरने से लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। जयपुर, बूंदी, कोटा प्रतापगढ़, बांसवाड़ा सहित कई जगह झमाझम बारिश का दौर चला।

बूंदी में आज सुबह से चल रहे बारिश के दौर के कारण बाढ़ के हालात बन गए हैं। शहर की गुरु नानक कॉलोनी स्थित तलाई मोहल्ले में महावीर कॉलोनी, जवाहर कॉलोनी, बिबनवा रोड, सिविल लाइन और न्यू कॉलोनी सहित सभी इलाके जलमग्न हो गए। तेज बारिश के चलते घरों के अंदर तक पानी भर गया। जिससे लोगों को बहुत परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

बांसवाड़ा जिले में अच्छी बारिश के बाद छोटी कालीसिंध नदी में उफान आ गया। आखिरकार माही बांध के गेट खोलने पड़े। इस नजारे को देखने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। इस बार अच्छी बारिश के चलते माही नदी में पानी की आवक हुई है। बुधवार दोपहर को जिला कलक्टर आशीष गुप्ता सहित पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी में माही बांध के 4 गेट खोले गए। बाढ़ नियंत्रण कक्ष के मुताबिक माही बांध की कुल भराव क्षमता 281.50 मीटर के मुकाबले जलस्तर 281.30 मीटर दर्ज किया है। मध्यप्रदेश की ओर से बांध में पानी की आवक लगातार बनी हुई है।

जयपुर शहर में मंगलवार रात से बारिश होती रही। बुधवार सुबह भी बारिश में भीगते हुए लोग ऑफिसों तक पहुंच पाए। दोपहर करीब दो बजे के आसपास बारिश बंद होने के बाद लोगों की आवाजाही फिर से शुरू हुई। मौसम सुहावना होने से पिकनिक स्थलों पर लोगों की भीड़ लगी रह है।

प्रतापगढ़ जिले के कांठल में मूसलाधार बारिश होने से पुलिया पर से पानी बहने लगा। दरअसल, जिले में मंगलवार रात को हुई तेज बारिश के बाद नदी नाले उफान पर हैं। कई गांव पानी से घिर गए। पुलिया के उपर पानी बहने से मार्ग बंद रहे। प्रतापगढ जिला मुख्यालय पर बुधवार सुबह 8 बजे तक 6 इंच बारिश दर्ज की गई। अरनोद और छोटी सादड़ी में पौने 3 इंच पानी बरसा।

कोटा में मंगलवार रात से बारिश शुरू हुई। बुधवार को भी सुबह 6 बजे फिर से झमाझम बारिश का दौर शुरू हुआ जो दोपहर 2 बजे तक चलता रहाल। बादलों की गर्जना के साथ झमाझम बारिश होती रही। जब सुबह लोगों की नींद खुली तो चारों ओर पानी ही पानी दिखाई दिया। डीसीएम क्षेत्र की कई कॉलोनियां जलमग्न हो गई।