स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बच्चों को मिट्टी में खेलने दें, बढ़ती इम्युनिटी और घटती एलर्जी

Kartik Sharma

Publish: Jan 26, 2020 10:51 AM | Updated: Jan 26, 2020 10:51 AM

Jaipur

HEALTH NEWS IN HINDI : हमारी पारंपरिक सामाजिक व्यवस्था में बच्चे नियमित रूप से घूल-मिट्टी और धूप में खेलते रहे हैं । ( RAJASTHAN NEWS IN HINDI ) माना जाता है कि इससे वे स्वस्थ रहते है । लेकिन संयुक्त परिवार कम होने और शहरीकरण के दौर में यह धारणा बदलने लगी । लेकिन अब फिनलैंड के शोधकर्ताओं ने एक नई रिसर्च में कहा है कि मिट्टी में खेलने से बच्चे स्वस्थ व बीमारियों से लड़ने में सक्षम हैं ।

HEALTH NEWS IN HINDI : हमारी पारंपरिक सामाजिक व्यवस्था में बच्चे नियमित रूप से घूल-मिट्टी और धूप में खेलते रहे हैं । ( RAJASTHAN NEWS IN HINDI ) माना जाता है कि इससे वे स्वस्थ रहते है । लेकिन संयुक्त परिवार कम होने और शहरीकरण के दौर में यह धारणा बदलने लगी । लेकिन अब फिनलैंड के शोधकर्ताओं ने एक नई रिसर्च में कहा है कि मिट्टी में खेलने से बच्चे स्वस्थ व बीमारियों से लड़ने में सक्षम हैं ।

आपको बता दे धूल-मिट्टी में खेलने का अर्थ केवल मिट्टी से नहीं होता बल्कि प्रकृति से जुड़ना भी है । इसमें धूल-मिट्टी के साथ धू, हरियाली,स्वच्छ वातावरण, अधिक ऑक्सीजन और फिजिकल एक्टिविटी भी शामिल है । धूप से न केवल विटामिन डी मिलता,हड्डियां मजबूत होती हैं बल्कि इम्युनिटी बढ़ती और स्ट्रेस घटता है । छोटे बच्चों को मिट्टी में खेलने से मना न करें । मिट्टी में खेलने से शारीरिक व मानसिक विकास होता है लेकिन ध्यान रखें कि मिट्टी संक्रमित या प्रदूषित न हो । मिट्टी में कैमिकल और मेटल्स न हों । इससे नुकसान हो सकता है । उनमे संक्रमण होने की आशंका रहती है ।
फिनलैंड-रूस के सीमा से सटे शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में हेलसिंकी यूनिवर्सिटी के अध्ययन में पाया गया कि वहां के ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले बच्चों की न केवल इम्युनिटी अधिक थी बल्कि उनमें एलर्जी की समस्या कम देखने को मिली । उनकी त्वचा भी अधिक हैल्दी है ।

[MORE_ADVERTISE1]